मैनपुरी : आठ घंटे के कार्य के समय में कभी चाय तो कभी ब्रेकफास्ट के नाम पर बार-बार कमरों से नदारद होने वाले स्वास्थ्य कर्मी अब मुश्किल में फंस सकते हैं। अस्पताल प्रशासन ने कामचोरी पर कार्रवाई की तैयारी कर ली है।

अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ के लिए वार्डो में टेबल और कुर्सियां रखवाकर बैठने की व्यवस्था है। वार्डों में ही मरीजों से संबंधित रिकार्ड भी रखे जाने हैं ताकि राउंड पर आने वाले चिकित्सक तत्काल निरीक्षण कर उपचार दे सकें। नर्सिंग स्टाफ आठ घंटे की ड्यूटी के दौरान छोटे-मोटे काम के बहाने परिसर में चहलकदमी करता रहता है। इससे कई बार मरीजों को समस्याओं का सामना करना पड़ता है। मरीजों की शिकायत पर अब अस्पताल प्रशासन ने मनमानी पर लगाम कसने की व्यवस्था की है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरके सागर का कहना है कि जिस नर्स की ड्यूटी जहां पर लगाई गई है, उन्हें उसी स्थान पर बैठना होगा। यही व्यवस्था चिकित्सकों के लिए भी है। कोई भी चिकित्सक यदि कक्ष छोड़कर जाता है और जिसके कारण मरीजों को इंतजार करना पड़ता है, तो उन्हें जवाब देना होगा। उनको विभागीय नोटिस जारी कर लिखित स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

Posted By: Jagran