जासं, मैनपुरी: जिला अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ को चार माह से वेतन नहीं मिल पा रहा है। कई बार मांग उठाई, मगर कुछ नहीं हुआ था। आर्थिक तंगी और दीपावली के त्योहार को लेकर कर्मियों के चेहरे पर मायूसी छाई हुई थी। नर्सिग कर्मियों का दर्द दैनिक जागरण ने प्रमुखता से उठाया, जिस पर गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा संज्ञान लेते हुए वेतन वितरण की औपचारिकता शुरू कर दी गई है। सीएमओ कार्यालय ने अस्पताल प्रबंधक से डाटा जुटाकर इसी सप्ताह खातों में वेतन भेजने के निर्देश दिए हैं।

जिला अस्पताल में 43 नर्सिंग स्टाफ की तैनाती है। कोरोना और वैक्सीनेशन में पूरा दम झोंकने वाले इन कर्मचारियों ने डेंगू से पीड़ित मरीजों के उपचार की बागडोर भी पूरी जिम्मेदारी से संभाली, लेकिन चार माह से वेतन न मिलने की वजह से सभी परेशान चल रहे थे। ज्यादातर कर्मचारी गैर जिलों के हैं जो यहां किराए के कमरों में परिवार के साथ रह रहे हैं। चार माह से वेतन न मिलने के कारण उनकी आर्थिक स्थिति खराब होने लगी थी।

कर्मचारियों की इस समस्या को जागरण ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस खबर पर संज्ञान लेते हुए सीएमओ डा. पीपी सिंह ने समस्या के निस्तारण के लिए प्रक्रिया आरंभ करा दी। गुरुवार को उनके निर्देश पर कार्यालय के कर्मचारियों ने जिला अस्पताल पहुंचकर अस्पताल प्रबंधक से कर्मचारियों के संबंध में जानकारी जुटाई। सीएमओ का कहना है कि कुछ लोगों के वेतन से संबंधित चेक जारी कर दिए गए हैं, जबकि कुछ के वेतन से संबंधित प्रक्रिया जारी है। इस सप्ताह तक सभी कर्मचारियों के खातों में वेतन भेज दिया जाएगा।

Edited By: Jagran