जासं, मैनपुरी : शारदीय नवरात्र के आठवें दिन मां महागौरी की आराधना को श्रद्धालु जुटे रहे। माता का पूजन कर मनौतियां मांगीं। दिनभर भजन और कीर्तनों के साथ मां का आह्वान किया गया। किसी ने नाच-गाकर नेजा चढ़ाए तो किसी ने कन्याओं का पूजन कर उन्हें प्रसाद खिलाया।

मां महागौरी की उपासना के लिए बुधवार को शीतला मंदिर पर सैकड़ों श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। सुबह पूजन के बाद मंदिर के कपाट भक्तों के लिए खोले गए। आरती उतारकर और धूप, दीप के साथ मैया की उपासना की गई। व्रत रखने वाले भक्तों ने विशेष पूजन किया। घर से बनाकर लाए गए प्रसाद को चढ़ा माता रानी का पूजन किया। बड़ी संख्या में भक्तों ने नेजा चढ़ाए। दिनभर श्रद्धालुओं का पूजन के लिए तांता लगा रहा। नजदीक ही स्थित काली माता मंदिर पर हवन का आयोजन कर माता रानी का आह्वान किया गया। श्रद्धालुओं ने कन्याओं को मिष्ठान और फल आदि भेंट कर उनका आशीर्वाद लिया। वहीं, घरों में भी श्रद्धालुओं ने अष्टमी का पूजन कर कन्या लांगुरा को प्रसाद खिलाया। शिशुओं का हुआ मुंडन

शारदीय नवरात्र के आठवें दिन माता शीतला के धाम में श्रद्धालुओं ने शिशुओं का मुंडन कराया। हल्दी का स्वस्तिक बनाकर शिशुओं के बाल देवी को अर्पित कर आशीर्वाद मांगा। खूब चढ़े नेजा

देवी मंदिर पर नेजा चढ़ाने के लिए श्रद्धालुओं में होड़-सी लगी रही। गाजे-बाजे के साथ नेजा लेकर आए श्रद्धालुओं ने माता का आह्वान कर पूजा कर नेजा चढ़ाया। महिलाओं ने नृत्य और गीतों से मां को प्रसन्न किया। पंडालों में हुए हवन

शहर के किला बजरिया में सजाए गए मंडप में माता रानी का हवन हुआ। भोर में आरती के बाद हुए कार्यक्रम में दर्जनों श्रद्धालुओं ने सहभागिता निभाई। प्रसाद भी बांटा गया। दोपहर को धार्मिक कार्यक्रम के बाद शाम को महाआरती का आयोजन हुआ।

-

माता के भंडारे में बांटा प्रसाद-

संसू, करहल : कस्बा के सिरसागंज मार्ग पर बुधवार को माता रानी का भंडारा गांव नगरिया भांती निवासी समाजसेवी नीरज पांडेय ने कराया। गुलाब मार्केट में हुए इस कार्यक्रम में सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। विवेक पांडे, रामकिशोर वर्मा, ब्रजकिशोर मिश्रा, मोहन शर्मा, सोनू शर्मा आदि देवी व्यवस्था में देखे गए।

माता सिद्धिदात्री का पूजन आज, लगेंगे भंडारे

मैनपुरी: शारदीय नवरात्र की नवमी को माता सिद्धिदात्री की गुरुवार को श्रद्धालु पूजन कर मां को भोग लगाएंगे। तत्पश्चात कन्या लांगुर को प्रसाद खिलाया जाएगा। शहर के शीतला माता मंदिर और करहल रोड स्थित काली माता मंदिर पर भी भंडारे का आयोजन किया गया है। इस दौरान शहर और ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में पुलिस प्रशासन और कोविड के प्रबंधन किए गए हैं।

Edited By: Jagran