जासं, मैनपुरी : गर्मी की शुरुआत के साथ ही बिजली की खपत भी तेज होने लगी है। परिणाम फाल्ट के तौर पर सामने आ रहे हैं। बिजली की चोरी रोकने के साथ मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए अब विभाग ने नए सिरे से मॉर्निंग रेड की तैयारी कर ली है। अलग-अलग टीमों को अलग-अलग कॉलोनियों की कमान सौंपी गई है।

अधीक्षण अभियंता उमेश चंद्र वर्मा का कहना है कि प्रबंध निदेशक आगरा मंडल द्वारा मॉर्निंग रेड की अनुमति दी गई है। अधिशासी अभियंताओं और उप खंड अधिकारियों की अगुवाई में अवर अभियंताओं के साथ डिस्कनेक्शन टीमों का गठन किया गया है। सुबह की पहली किरण के साथ ही ये टीमें अपने क्षेत्रों में कार्रवाई को निकलेंगी। किस क्षेत्र में कौन सी टीम जाएगी, इसकी सूचना टीम की अगुवाई करने वाले अधिकारियों को रवानगी से पांच मिनट पहले ही दी जाएगी ताकि छापामारी की सूचना सार्वजनिक न हो सके। होगी हर कार्रवाई की रिकॉर्डिंग

अधिशासी अभियंता एससी शर्मा का कहना है कि कार्रवाई के दौरान यदि कहीं भी बिजली की चोरी पकड़ी जाती है तो संबंधित टीम पूरी कार्रवाई की मोबाइल फोन की मदद से बाकायदा वीडियोग्राफी करेगी। बाद में इस वीडियोग्राफी को उच्चाधिकारियों के सामने बतौर सुबूत पेश किया जाएगा। कार्रवाई के दौरान विवादित स्थितियां न बनें, इसके लिए पुलिस बल की मदद भी ली जाएगी।

Posted By: Jagran