जागरण संवाददाता, मैनुपरी: बोर्ड परीक्षा केंद्र निर्धारण के लिए कॉलेजों द्वारा वेबसाइट पर अपलोड की गई सूचनाओं में बोर्ड को गुमराह किया गया था। तमाम कॉलेजों का गलत डाटा अपलोड कर दिया था। जागरण ने इस गड़बड़ी को उजागर किया तो खलबली मच गई। आनन-फानन में दोबारा डाटा संशोधित करने का आदेश जारी कर दिया गया।

जिले के कॉलेजों को ऑनलाइन परीक्षा केंद्र बनाने के लिए माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर डाटा अपलोड किया गया था। ये डाटा जिला विद्यालय निरीक्षक को संशोधित करना था। 31 अगस्त को जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय से डाटा संशोधित कर उसे लॉक कर दिया गया। लेकिन इसमें गड़बड़ियों की भरमार रही। राजकीय और एडेड कॉलेज में जहां व्यवस्थाएं कम दिखाई गई थीं तो वहीं निजी कॉलेजों में अधिक। सोमवार के अंक में जागरण ने इसे प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसके बाद सोमवार को ही जिला विद्यालय निरीक्षक ने डाटा को फिर से संशोधित करने का आदेश जारी कर दिया। इसके लिए कॉलेज संचालकों को दो दिन का समय दिया गया है। उन्हें गड़बड़ियों को सही कराने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में प्रत्यावेदन देना होगा। सभी प्रधानाचार्यों से डाटा संशोधित करने के लिए प्रत्यावेदन मांगा गया है। इसके लिए दो दिनों का समय है। वे जल्द से जल्द अपना सही डाटा कार्यालय को उपलब्ध करा दें।

सर्वेश कुमार, डीआइओएस मैनपुरी।

Posted By: Jagran