जागरण संवाददाता, मैनपुरी: सिद्धिविनायक के स्वागत के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। बुधवार को दिन भर पंडालों में सजावट चलती रही। गुरुवार को विधि विधान से गणपति बप्पा को विराजमान किया जाएगा। घरों और पंडालों के लिए लोगों ने भगवान गणेश की मूर्तियों की खरीदारी की।

जिले में हर साल गणेश चतुर्थी का उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। घरों और पंडालों में भगवान विनायक की मूर्ति स्थापति कर पूजा अर्चना की जाती है। सात दिनों तक पंडालों में भजन कीर्तन चलता है। अकेले शहर में ही एक दर्जन से अधिक पंडालों में गणपति की स्थापना की जाती है। इसके लिए बुधवार को दिन भर तैयारियां चलती रहीं। मुहल्ला राजा का बाग, लेनगंज, नगला पजाबा व श्रंगार नगर में पंडालों में तैयारियां चलती रहीं। लोगों ने गणपति की स्थापना के लिए बुधवार को मूर्तियों की खरीदारी की। पंडालों में स्थापना के लिए जहां लोगों ने बड़ी मूर्तियों को चुना तो वहीं घरों के लिए छोटी मूर्तियां लोगों की पहली पसंद रहीं। जिनकी कीमत पांच सौ रुपये से लेकर 15 हजार रुपये तक थी।

किशनी : क्षेत्र के शमशेरगंज में हर साल गणेश उत्सव आयोजित होता है। जो 10 दिनों तक चलता है। आयोजक प्रधान सुशील शाक्य और ओम दुबे ने ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। बताया कि इस बार महोत्सव 13 सितंबर से 23 सितंबर तक चलेगा। जिसमें भजन पूजन के साथ ही भव्य झांकियां भी पेश की जाएंगी।

Posted By: Jagran