जागरण संवाददाता, मैनपुरी : मौसम परिवर्तन के साथ जिले में बुखार का कहर तेज होता जा रहा है। इमरजेंसी में बुखार पीड़ितों की तादात बढ़ी तो सोमवार को आधा सैकड़ा मरीजों को भर्ती किया गया।

सोमवार को जिला अस्पताल में 1400 मरीजों ने अपना पंजीकरण कराया। इनमें सबसे ज्यादा मरीज बुखार और पेट दर्द से पीड़ित थे। मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण आपातकालीन कक्ष की स्थितियां बिगड़ती जा रही हैं। बिछवां थाना क्षेत्र के गांव बलारपुर निवासी सोनी (7) पुत्र नरेश को तेज बुखार आया। आनन-फानन में परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे। स्थिति यह रही कि बुखार से तपते बदन को देख चिकित्सकों ने ठंडे पानी की पट्टियां रखने की सलाह दी। इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉ. आकांक्षा ¨सह का कहना है कि सबसे ज्यादा मरीज बुखार के आ रहे हैं। ज्यादातर मरीज ऐसे हैं जो झोलाछाप से उपचार लेते रहे हैं। गंभीर मरीजों को बेहतर उपचार के लिए सैफई के लिए रेफर किया जा रहा है। टायफाइड और दिमागी बुखार के मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है।

प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अशोक कुमार का कहना है कि सेफ वार्ड में अतिरिक्त बिस्तर बढ़वाए गए हैं। यहां मरीजों को भर्ती किया जा रहा है।

Posted By: Jagran