संसू, किशनी: ऊंचा इस्लामाबाद में आम रास्ता कब्रिस्तान में दर्ज होने पर दो समुदाय आमने-सामने आ गए। एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर विवादित जमीन पर कब्जे का आरोप लगाया।

ऊंचा इस्लामाबाद में गाटा संख्या 896 कब्रिस्तान के तौर पर दर्ज है। गांव के लोग आरोप लगा रहे हैं कि उक्त जमीन काफी पहले अभिलेखों में आम रास्ता में दर्ज थी। 23 अक्टूबर को गांव के निवासी 70 वर्षीय जलेतन अली की मृत्यु के उपरांत उनके दफनाने को लेकर भी दोनों पक्ष आमने सामने आ गये थे। विवाद बढ़ने पर एसडीएम, तहसीलदार तथा थाना पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच सहमति इस बात पर बन गई थी कि उस दिन तो मृतक जलेतन को गाटा संख्या 896 में दफनाया जाएगा। सोमवार को गांव ऊंचा इस्लामाबाद के दर्जनभर ग्रामीण तहसील आए और एसडीएम रामसकल मौर्य को प्रार्थना पत्र दिया। इसमें कहा है कि समझौते के बावजूद भी दूसरा पक्ष विवादित जमीन पर कटीले तार तथा चहारदीवारी बनाकर अवैध कब्जा कर रहा है। ग्रामीणों ने तहसील में आकर प्रदर्शन कर मांग की कि जब तक मामले का निस्तारण न हो जाए, दूसरा पक्ष विवादित जमीन पर कब्जा न करे। प्रदर्शन करने वालों में हरीप्रताप, गोविन्द सिंह, आलोक, नरेंद्र सिंह, ब्रजपाल सिंह, रामनिवास, रामवीर, सुमित कुमार, सुनील कुमार, किशनपाल तथा अमरपाल शामिल थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस