जासं, मैनपुरी: आसमान पर बादलों के छाए रहने से सूरज के सोमवार को दर्शन नहीं हो सके। सूरज के बाहर नहीं निकलने से कई दिन से जारी ठंड का सितम और बढ़ गया। सर्द हवाएं भी नागरिकों के बदन में तीर की तरह चुभती रहीं। ठंड और भड़कने से नागरिक परेशान नजर आए। ऐसे में शहर और कस्बों में सुबह से रात तक अलाव ही सर्दी से बचने को नागरिकों का सहारा बने।

सोमवार को जमीं पर कोहरा तो कम नजर आया। सुबह पांच बजे हल्का कोहरा छाने से वाहन चालकों को जरूर रास्ता तय करने में थोड़ी दिक्कत हुई। इसके बाद हवा की शह पर कोहरा दूसरी राहों पर आया तो ठंड का ग्राफ और बढ़ा दिखा। सुबह होने पर भी मौसम के ऐसे ही हालात नजर आए। गलन और ठंड के असर से बचने के लिए नागरिक अलाव का सहारा लेते दिखे, जबकि सरकारी कार्यालयों में भी ठंड से बचने के लिए रूम हीटर और ब्लोअर चलते दिखे।

हवा ने दिखाए तेवर:

सोमवार को आसमान पर बादल छाए रहने से हवा भी नागरिकों को सताती रही। सुबह से देर शाम तक चलने वाली हवाओं की वजह से नागरिक सिकुड़ते नजर आए। ऐसे में हर कोई सर्दी के सितम से बचने को जुटा रहा।

तीन-तेरह में फंसा पारा:

सूरज नहीं निकलने से पारा भी और नीचे आ गिरा। बीते दिन अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस पर रहा था, जबकि सोमवार को यह और नीचे आकर 13 डिग्री पर टंगा रहा। वहीं, न्यूनतम पारा भी बीते दिन की तरह तीन डिग्री पर बना रहा।

दिनभर छाए बादल:

आसमान पर सुबह से शाम तक बादल छाए रहे, इससे भी ठंड का असर तीखा रहा। हवा भी नागरिकों के बदन में तीर की तरह चुभती रही। सर्द हवाओं की वजह से नागरिक कंपकंपाते नजर आए।

अब बूंदाबांदी- बारिश के आसार

अब नए साल के पहले सप्ताह की शुरुआत बूंदाबांदी और बारिश के साथ होगी। ऐसे में खेतों की सिचाई कर रहे किसान मौसम के रुख बदलने के बाद फसल को पानी देना बंद कर दें। कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक डॉ. नरेंद्र कुमार के वर्मा के अनुसार, उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे जम्मू-कश्मीर में एक नया विक्षोभ बना हुआ है, इसकी वजह से 31 दिसंबर से चार जनवरी तक तक मध्यम और तेज हवाएं चलने के साथ दो जनवरी को बूंदाबांदी और तीन जनवरी को अच्छी बारिश हो सकती है। ऐसे में किसान फसलों की सिचाई रोक दें और मौसम खराब होने से पूर्व कच्चे आलू की खोदाई के काम के काम को पूरा कर लें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस