जासं, मैनपुरी: जिले में कोरोना का संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। सिर्फ 97 एक्टिव पाजिटिव मरीज ही बचे हुए हैं। चौबीस घंटे में दो नए लोगों में वायरस का संक्रमण मिला है, जबकि चार मरीज ठीक होकर होम आइसोलेशन से बाहर आए हैं। सीएमओ डा. एके पांडेय का कहना है कि अब जांचों में मरीज कम ही सामने आ रहे हैं। बहुत हद तक राहत मिली है। सब कुछ भले ही ठीक हो रहा है, लेकिन हमें तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सतर्क रहने की जरूरत है। गांवों में लोग अभी भी नहीं मान रहे हैं। हमें समझना होगा कि इस बीमारी से बचाव का सिर्फ कोविड प्रोटोकाल का पालन ही तरीका है। खतरनाक हो सकता है पोस्ट कोविड

शहर के कमला नर्सिंग होम में लखनऊ से आए एमडी मेडिसिन और वरिष्ठ फिजीशियन डा. एसएन सिंह का कहना है कि कोरोना को लेकर अभी तक कोई भी स्पष्ट रिसर्च सामने नहीं आई है। लक्षणों के आधार पर ही हम सब उपचार दे रहे हैं। पोस्ट कोविड के मामले बढ़ रहे हैं। हालांकि राहत की बात है कि मैनपुरी में इसके मामले बहुत कम आ रहे हैं। लोगों को यह समझना होगा कि कोरोना से नेगेटिव होने के बाद भी सावधानी बहुत जरूरी है। पोस्ट कोविड के लक्षणों में दिमागी थकान, भूलने की समस्या, शरीर के जोड़ों में दर्द और अन्य कई लक्षण देखने को मिल रहे हैं। ऐसे मरीजों को आराम की सख्त जरूरत है। सुबह की सैर के साथ योग और व्यायाम करें ताकि बीमारी में राहत मिल सके। यदि लापरवाही बरती जाती है तो स्थितियां चिताजनक भी हो सकती हैं।

Edited By: Jagran