जासं, मैनपुरी : दुर्गा महानवमी पर गुरुवार को माता सिद्धिदात्री की उपासना को आस्था का सैलाब उमड़ा। सिद्ध शीतला माता धाम पर हजारों की संख्या में पहुंचे भक्तों ने माता का पूजन कर मनौतियां मांगीं। देर शाम तक श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी कतारें लगी रहीं।

समूचे जिले में महानवमी का पर्व श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया। तड़के तीन बजे से ही मैनपुरी-कुरावली मार्ग स्थित शीतला माता मंदिर में भक्तों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। सुबह चार बजे दर्शनों के लिए मंदिर के कपाट खुलते ही श्रद्धालु पूजा को उमड़ पड़े। पुलिसकर्मियों ने महिलाओं और पुरुषों को अलग-अलग लाइनों के माध्यम से दर्शनों के लिए पहुंचाया गया। धूप, दीप और अगरबत्ती जला विधिविधान मैया की आरती उतारी गई। माता रानी को महाप्रसाद का भोग लगा मनौतियां मांगी गईं।

शहर के कचहरी रोड स्थित दुर्गा माता मंदिर, आवास विकास कालोनी स्थित गायत्री माता मंदिर, मुहल्ला कटरा स्थित देवी मंदिरों पर भी माता सिद्धिदात्री की उपासना कर आरती उतारी गई। देवी रोड स्थित काली माता मंदिर पर हवन का आयोजन कर माता का आह्वान किया गया। कन्याओं का पूजन कर लिया आशीर्वाद

नौ दिनों तक व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं ने सोमवार को नवमी पर माता का आह्वान कर कन्याओं का पूजन किया। पैरों में महावर लगाने के बाद कन्याओं का श्रृंगार कर चुनरी ओढ़ाई गई। हलवा, पूरी, खीर के साथ जलेवी और दही आदि मिठाइयों का प्रसाद परोसा गया। देवी मंदिरों के अलावा घरों में भी बड़ी संख्या में कन्याओं का पूजन कर उन्हें दान दिया। ग्रामीण इलाकों में अधिकांश भक्त ऐसे भी रहे, जिन्होंने घरों में बोये गए जवारों के साथ पैदल शोभायात्रा निकाली और शीतला माता मंदिर में पहुंचकर उनका पूजन किया।

Edited By: Jagran