संसू, करहल (मैनपुरी) : थाना क्षेत्र के गांव सिंहपुर में तालाब की जगह पर गांव के कई लोगों ने अतिक्रमण कर लिया था। पशुओं को चारा खिलाने के लिए पक्की ईंटों से नांदें बनाने के अलावा जमीन पर ईंट बिछा ली थीं। भूसे का कूप बनाकर और घूरा डालकर अवैध रूप से कब्जा कर लिया था। शिकायत गांव के कुछ लोगों ने एसडीएम रतन कुमार वर्मा से की थी। उन्होंने पुलिस बल के साथ मौके पर जाकर जेसीबी से अवैध कब्जे को हटवा दिया। इसी के साथ यह भी ऐलान करा दिया कि यदि किसी ने सरकारी अथवा ग्राम पंचायत की जमीन पर या तालाब की जमीन पर कब्जा किया, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर जेल भेजा जाएगा। फर्जी लाइसेंस की जांच को इटावा पहुंची पुलिस: फर्जी शस्त्र लाइसेंस पर रिवाल्वर खरीदे जाने के मामले की जांच पुलिस ने शुरू कर दी है। रिवाल्वर को इटावा से खरीदा गया था। इसलिए पुलिस की एक टीम को इटावा रवाना किया गया है।

कुर्रा के गांव अंबरपुर निवासी सुनील कुमार ने वर्ष 2011 में पिस्टल के लिए शस्त्र लाइसेंस लिया था। वर्ष 2012 में पिस्टल खरीद ली थी। पंचायत चुनाव के चलते उन्होंने अपने असलहा को शस्त्र की दुकान पर जमा कर दिया। कुछ दिन पहले इटावा पुलिस ने बताया कि उनके लाइसेंस की द्वितीय प्रति जारी कराकर इटावा से रिवाल्वर खरीदी गई है। इस पर सुनील कुमार हैरान रह गए। उन्होंने घटना की रिपोर्ट शहर कोतवाली में दर्ज कराई है।

लाइसेंस की द्वितीय प्रति पर खरीदी गई रिवाल्वर द्वारा किस अपराध को अंजाम दिया गया है, इसकी जांच के लिए पुलिस की एक टीम को इटावा रवाना किया गया है। वहीं एक टीम ने आयुध कार्यालय जाकर पड़ताल की है। जिससे फर्जी लाइसेंस बनाए जाने की पुष्टि हो रही है। इंस्पेक्टर भानु प्रताप सिंह ने बताया कि घटना की गहराई से जांच की जा रही है। जल्द सच्चाई सामने आ जाएगी।

Edited By: Jagran