संसू, अजीतगंज: बेसहारा गोवंश किसान और प्रशासन के लिए समस्या बन रहे हैं। किसानों ने ब्लाक संसाधन केंद्र और जिला परिषद इंटर कालेज के मध्य में खाली मैदान में एक सैकड़ा गोवंश बंद कर दिए। जानकारी पर तहसीलदार और बीडीओ, एसओ ने किसानों को समझाया।

दो दिन पूर्व गांव जागीर, सगामई, मलिकपुर के किसानों ने जागीर ब्लाक कार्यालय में आधा सैंकड़ा बेसहारा गोवंशी को बंद किया था। बीडीओ जितेंद्र कुमार ने ग्राम प्रधानों और सचिवों के सहयोग से इन गोवंशी को गोशाला पहुंचाया था। लेकिन, बुधवार को क्षेत्र के गांव भावत, विटुकपुर, नगला बलू, मेदेपुर, सगामई आदि गांव के किसानों ने ब्लाक संसाधन केंद्र के समीप खाली पड़े परिसर में ऐसे बेसहारा गोवंशी को बंद कर दिया। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी तहसीलदार भोगांव आनंद कुमार और एसओ एलाऊ सुनील भारद्वाज को दी। सूचना के बाद दोनों ब्लाक संसाधन केंद्र जागीर पहुंचे।

तहसीलदार ने किसान यूनियन नेता राजा ठाकुर से बात की। सैकड़ों की संख्या में मौजूद ग्रामीण अधिकारियों की बात सुनने को राजी नहीं थे। किसानों का कहना था कि सैकड़ों बीघा गेहूं की फसल को गोवंशी ने पूरी तरह बर्बाद कर दिया है। इस बार परिवार के भरण-पोषण के लिए खेतों में गेहूं की पैदावार नहीं हो सकेगी। तहसीलदार अनिल कुमार ने बताया कि प्रशासन के उच्चाधिकारियों को अवगत कराकर समस्या का समाधान कराया जाएगा।

आक्रोशित किसानों की भीड़ को थानाध्यक्ष सुनील भारद्वाज ने शांत कराते हुए कहा कि समस्या का समाधान जल्द होगा। लेकिन, कानूनी व्यवस्था के साथ छेड़छाड़ करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। आक्रोश जताने वालों में राज यादव, विजेंद्र सिंह, रामपाल राजपूत, रवि यादव, जयंत सिंह, रामवीर, रिशु कुमार, गिरीश चंद्र, सुनील कुमार सहित दर्जनों की संख्या में किसान मौजूद थे।

Edited By: Jagran