जासं मैनपुरी: छात्रा की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अलग-अलग संगठन प्रदर्शन कर दोषियों के लिए सजा की मांग कर रहे हैं। मंगलवार को महिला संगठनों ने आंदोलन की योजना तैयार की थी। अधिवक्ता संगठन ने भी कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया था। दोषियों का पता लगा कर फांसी की सजा और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देने की मांग की थी। बुधवार को सर्व ब्राहम्ण महासभा ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। दोषियों को फांसी की सजा, पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की है।

महासभा के जिलाध्यक्ष रमेश पांडेय की अध्यक्षता में प्रभू पांडेय, चक्रेश पांडेय, योगेश मिश्रा, मुकेश कुमार, अमित कुमार, राकेश मिश्रा, भरत दुबे, प्रदीप मिश्रा, आलोक पांडेय, मुकेश मिश्रा, अंजू दुबे कलक्ट्रेट पहुंचे। सभी ने डीएम कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। उनकी मांग थी कि घटना के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के साथ ही उन अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए, जिन्होंने घटना को दबाने का प्रयास किया है।

जिलाध्यक्ष रमेश पांडेय ने कहा कि मृत छात्रा मेधावी थी उसका सपना डॉक्टर बनने का था। पीड़ित परिवार भी छात्रा की सफलता से अपनी खुशहाली का सपना देख रहा था। उसकी हत्या से परिवार के सारे सपने टूट गए है। उन्होंने मुख्यमंत्री से पीड़ित परिवार के लिए पचास लाख रुपया आर्थिक सहायता देने की मांग की। उन्होंने कहा कि छात्रा के माता पिता को आज भी पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है, इसलिए घटना की जांच सीबीआइ से कराई जाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021