संसू, भोगांव: बयानों और सुबूतों को बटोरने के बाद एसआइटी ने मंगलवार को स्कूल में क्राइम सीन-रीक्रिएट कर छात्रा की हत्या की घटना को समझने की कोशिश की। घटना को लेकर जिस प्रकार की जानकारी दी गई, उसी प्रकार सीन तैयार कराया गया।

कमरे का दरवाजा ठीक उसी प्रकार बंद किया गया, जिस प्रकार से घटना के समय बंद होना बताया गया था। उसी ऊंचाई के स्टूल को फिर से उस स्थान पर रखा गया, जैसा घटना के बाद रखा मिला था। छात्रा की लंबाई के बराबर के व्यक्ति को स्टूल पर खड़ा कर देखा गया कि छत पर लगे कुंडे पर पहुंचना संभव है या नहीं। कमरे के फर्श से छत की ऊंचाई नापी गई। फिर दुपट्टे को उसी तरह पंखे के कुंडे में ठूंसा गया, जिस प्रकार घटना वाले दिन ठूंसा मिला था।

बंद कमरे में करीब डेढ़ घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान स्थानीय पुलिस कर्मियों को बाहर रखा गया था। पूरी कार्रवाई पुलिस द्वारा लिखे गए बयानों और घटनास्थल के नक्शे के आधार पर की गई थी। क्राइम सीन फिर से स्थापित करने से कोई अहम जानकारी एसआइटी को मिली या नहीं, इसे लेकर अधिकारी कोई जानकारी देने के लिए तैयार नहीं हुए।

इस दौरान उन छात्राओं से जानकारी ली गई जिन्हें सबसे पहले घटना की जानकारी मिली थी और जिन्होंने छात्रा के शव को दुपट्टा काटकर नीचे उतारा था। जिस छात्रा ने दौड़ कर वार्डन को जानकारी दी थी, उससे भी सवाल किए गए।

अधिकारी कहिन

मामले में प्रत्येक पहलू पर जांच की जा रही है। जांच पूरी होने के बाद सिलसिलेवार जानकारी दी जाएगी।

मोहित अग्रवाल, आइजी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस