जागरण संवाददाता, मैनपुरी: करहल केनगला डंबर में मकान के विवाद में ताई व चचेरे भाई द्वारा मिट्टी का तेल छिड़ककर जलाई गई किशोरी की गुरुवार अपराह्न सैफई में उपचार के दौरान मौत हो गई। उसकी मौत से पुलिस महकमे में भी सनसनी फैल गई है। ताई और भाभी को पुलिस ने हिरासत में ले रखा है। अब किशोरी द्वारा मजिस्ट्रेट को दिए बयान के आधार पर पुलिस कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है।

नगला डंबर में रहने वाली निधि (15) बुधवार दोपहर अपने घर में अकेली चारपाई पर सो रही थी। आरोप है कि ताई राजश्री, चचेरा भाई जितेंद्र और उनकी पत्नी जसमती ने निधि के ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क दिया। जब तक निधि भागती, उसे ¨जदा जला दिया। चीख पुकार सुनकर आसपास के लोग आए तो आरोपित भाग गए। गंभीर हालत में निधि को सैफई अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने भाई संदीप की तहरीर पर तीनों आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली। इधर गुरुवार को अपराह्न अस्सी फीसद जली निधि की मौत हो गई। फिलहाल चचेरा भाई हिरासत में है।

संदीप का आरोप है कि मकान के निकास को लेकर ताई और उसके परिजन रंजिश मानते हैं, इसी रंजिश में निधि को जलाकर मार डाला। बुधवार शाम ही अस्पताल में निधि के मजिस्ट्रेटी बयान हो गए थे। पुलिस अब मजिस्ट्रेटी बयान मिलने का इंतजार कर रही है। पुलिस का कहना है कि निधि के बयानों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। एसपी अजय शंकर राय ने बताया कि किशोरी ने मजिस्ट्रेट को जो बयान दिए हैं, उस आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप