जासं, मैनपुरी: पानी से लबालब होने को बेताव ईशन नदी का सुंदरीकरण काम अब तेज हो चुका है। पानी आने से पहले नदी के किनारों का सुंदरीकरण का काम भी जोरों पर है। शहर के आसपास नदी के किनारे खजूर के पेड़ लगाए जा रहे हैं। किनारों पर लगाए गमलों में पौधे अब मोहने लगे हैं तो बैठने को डलवाई गई बैंच भी सुंदरता का अहसास करा रहीं हैं। पानी भी अब शहर की ओर आने को उतावला नजर आने लगा है।

शहर से सटकर निकल कर गंगा में समाहित होने वाली ईशन नदी को संवारने और सुंदर बनाने में डीएम महेंद्र बहादुर, प्रशासन और सामाजिक संस्थाएं योगदान देने में जुटी हैं। नदी के सुंदरीकरण में अब तक शहर के आसपास सफाई का काम पहले ही पूरा हो चुका है तो जलकुंभी आदि गंदगी भी बाहर हो चुकी है। वहीं, एक पुल के नीचे चेकडैम भी बनकर तैयार हो चुका है। अब गंग नहर से कई रास्तों से आने वाला पानी यहां रुकेगा तो नदी में सात फीट तक जलराशि नजर आएगी। रूपपुर भरतपुर से आगे बढ़ा पानी

ईशन नदी के लिए लाया जा रहा पानी अब रूपपुर भरतपुर से आगे बढ़ चुका है। यहां से आगे निकलने वाला अभी एक और चेकडैम को लबालब करेगा, इसके बाद यह शहर तक जा पहुंचेगा। इसके लिए तीन दिन तक का समय लग सकता है।

किनारों पर लगाए खजूर के पेड़

शहर के समीप ईशन नदी को सुंदर बनाने को प्रशासन और समाजसेवी जुट गए हैं। बुधवार को आलीपुर पट्टी से लाए कई खजूर के पेड़ों को शहर के समीप ईशन नदी पुल के पास जेसीबी की मदद से प्रत्यारोपित किया गया। एसडीएम सदर रजनीकांत की मौजूदगी में ऐसे पेड़ों को लगवाने में राहुल दुबे, अतुल राजपूत, आकाश राजपूत, टीटू राजपूत, प्रणव गुप्ता, विजय पांडेय, श्यामानुज दीक्षित, लेखपाल ब्रजेश राठौर आदि ने सहयोग किया। एसडीएम ने बताया कि यहां ऐसे एक दर्जन पेड़ दूसरे स्थानों से लाकर लगाए जा रहे हैं।

डीएम ने देखा ईशन जीर्णाेद्धार का काम: ईशन नदी पर चल रहे सुंदरीकरण कामों को डीएम ने मौके पर देखा। इस दौरान कई स्थानों पर किए जा रहे कामों की जानकारी ली।

बुधवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने बी मार्ट के पीछे नदी के किनारे रोपित किए जा रहे खजूर के वृक्षों का भी स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लेते हुए एसडीएम से कहा कि नदी के किनारे दोनों ओर उचित दूरी पर वृक्ष रोपित किए जाएं, ताकि क्षेत्र देखने में सुंदर लगे। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. ए.के. पांडेय, उप जिलाधिकारी सदर रजनीकांत भी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस