जासं, मैनपुरी : परिवार परामर्श केंद्र में करवा चौथ पर दंपति का समझौता कराकर केंद्र से ही पत्नी को पति के साथ विदा कर दिया गया। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में संचालित परिवार परामर्श केंद्र में शनिवार को 42 मामले लगाए गए। लेकिन अधिकतर मामलों में दोनों पक्षों के उपस्थित न होने के कारण दंपति के बीच के विवादों का निपटारा नहीं हो पा रहा। सिर्फ एक मामले में दोनों पक्ष समझौते के लिए राजी हो गए। शहर कोतवाली के गांव रमईहार निवासी गीतम का विवाह कुसमरा के दादपुरा निवासी आरती पुत्री सियाराम के साथ आठ साल पहले हुआ था। तीन महीने पहले पति-पत्नी के बीच विवाद हो गया। आरती मायके आकर रहने लगी। आरती के भाई ने परामर्श केंद्र से समझौता कराने में सहायता की मांग की। शनिवार को दोनों पक्ष परामर्श केंद्र के सामने उपस्थित हुए। अन्य मामलों में सुनवाई न होने के कारण सभी परामर्श दाताओं ने इस मामले में बातचीत शुरू की तो दोनों पक्ष समझौते के लिए राजी हो गए। आरती ने कहा कि उसने करवा चौथ का व्रत रखा है। आज ही ससुराल जाना चाहती है तो उसके परिजन सहमत हो गए। मिठाई का डिब्बा लाकर आरती को वहीं से पति के साथ विदा कर दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस