जासं, मैनपुरी: प्लॉट में भरे पानी में डूबकर हुई बालिका की मौत का मामला ठंडे बस्ते में जाता दिखाई दे रहा है। पालिका को घटना के लिए जिम्मेदार बताने वाले स्वजनों ने तहरीर देते हुए पालिका पर कोई आरोप नहीं लगाया। वहीं चेयरमैन ने मौके पर पहुंचकर जल्द नाली निर्माण कराने का आश्वासन दिया है। मुहल्ले के लोगों ने जिलाधिकारी से समस्या का समाधान कराने की मांग की है।

शहर के मुहल्ला शिवनगर रामलीला मैदान निवासी नीरज की पांच वर्षीय पुत्री निशा की पास ही प्लॉट में भरे पानी में डूबकर रविवार को मौत हो गई। मुहल्ले के लोगों में काफी आक्रोश था। उनका कहना था कि यदि पालिका जल निकासी के लिए नाली निर्माण करा दिया होता तो ये हादसा नहीं होता। मुहल्ले के लोगों ने कैबिनेट मंत्री के घर के बाहर शव रखकर हंगामा किया था।

गुस्साए लोग पालिका को जिम्मेदार बताते हुए रिपोर्ट दर्ज करने की मांग कर रहे थे, लेकिन थाने में तहरीर दी गई तो सिर्फ उसमें पानी में डूबने से मौत होने की बात कही गई है। पालिका के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग नहीं की, इसलिए घटना को सिर्फ सूचना के तौर पर दर्ज किया गया। कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं किया गया है।

घटना के बाद मुहल्ले के लोगों ने सोमवार को कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। डीएम से रास्ता और नाली निर्माण की मांग की। कुछ लोगों ने सदर विधायक राजकुमार यादव से भी शिकायत की। चेयरमैन मनोरमा देवी भी सोमवार को बालिका के घर पहुंची और संवेदना जताने के बाद मुहल्ले के लोगों को समाधान का आश्वासन दिया। हालांकि, मुहल्ले के लोगों में पालिका के खिलाफ आक्रोश दिखाई दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप