संसू, घिरोर: बेसहारा गोवंश से परेशान कई गांवों के ग्रामीणों ने गुरुवार को गोवंश को पकड़ कर एक बंद पड़े स्कूल भवन में भर दिया। फिर धरने पर बैठ गए और गोशाला निर्माण शुरू न होने तक न उठने का ऐलान कर दिया। बाद में दो गांवों के प्रधानों ने समझाकर धरना खत्म कराया और गोवंश को बाहर निकाला।

प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक ग्राम स्तर पर गोवंश के संरक्षण के लिए गो संरक्षण केंद्र बनाए जा रहे हैं। हालांकि अभी कई क्षेत्रों में यह नहीं हो सकता है। गुरुवार को गांव पचावर, नगला पुनु, नगला अंती, रामा, रामनगर, विक्रमपुर, नगला मंगली के सैकड़ों ग्रामीणों ने पचावर स्थित ग्राम पंचायत की जमीन पर गोशाला के निर्माण की मांग को लेकर आंदोलित हो गए। ग्रामीणों ने पहले बेसहारा गोवंश को एकत्र किया और पचावर में बंद पड़े जूनियर हाईस्कूल के परिसर में भर दिया। सूचना पर गांव पुनु के प्रधान संजीव मिश्रा व पचावर के प्रधान चंद्रभूषण यादव मौके पर पहुंचे। उन्होंने मांग अधिकारियों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। प्रदर्शन करने वालों में किसान प्यारेलाल, फौरन सिंह, संजीव मिश्रा, छोटे सिंह, रंजीत, अजय कुमार, चंद्रभूषण सिंह यादव, विनोद, राजपाल, रामनरेश, हरिश्चंद्र, नवीन, जितेंद्र, छविराम, प्रदीप, विमलेश, वीरेश्वर, वीरेंद्र, सोनेलाल, विनोद, रामअवतार, भुरे, पप्पू, भुवनेश, राजू, फोतिलाल, मधुसूदन मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस