संसू, बरनाहल (मैनपुरी): मकान पर कब्जे को लेकर विवाद की सूचना पर पहुंचे दारोगा ने पूर्व मकान मालिक को ही तमाचा जड़ दिया। घटना के विरोध में थाने पहुंचे भाजपाइयों से पुलिस की तकरार भी हुई। करीब आधे घंटे तक थाने पर हंगामा चला। बाद में निर्माण कार्य रुकवाकर मामला शांत कराया गया।

बरनाहल थाना क्षेत्र के गांव दलेलनगर में झब्बूलाल का मकान है। 2010 में यह मकान गांव के ही बिप्ती सिंह को रहने के लिए दे दिया था। वर्ष 2013 में झब्बूलाल ने बिप्ती सिंह की पत्नी किताबश्री के नाम आधे मकान का बैनामा कर दिया था। बीते तीन अक्टूबर झब्बूलाल ने शेष आधे मकान का बैनामा गांव के ही शिवकुमार के नाम कर दिया।

रविवार को बिप्ती ने शौचालय का निर्माण शुरू करा दिया। शिवकुमार ने अपने हिस्से में निर्माण करने का आरोप लगा इसका विरोध किया। विवाद शुरू हो गया। सूचना पर थाने से एसआइ सुधीर कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे। यहां जानकारी लेने के दौरान मकान के पूर्व स्वामी झब्बूलाल से झड़प हो गई। आरोप है कि एसआइ ने झब्बूलाल को तमाचा मार दिया। निर्माण कार्य रुकवाए बगैर ही थाने लौट आए।

तमाचा मारे जाने की जानकारी मिलने पर भाजपा के मंडल अध्यक्ष अलकेश यादव व पूर्व मंडल अध्यक्ष सुशील दीक्षित करीब ढाई दर्जन कार्यकर्ताओं के साथ थाने पहुंच गए। यहां भाजपाइयों की पुलिस से तकरार होने लगी। इस बीच अधिकारियों तक भी खबर पहुंच गई। जिसके बाद पुलिस ने निर्माण कार्य रुकवा कर दोनों पक्षों को भी थाने बुला लिया। दोनों को अपने-अपने कागजात पेश करने के लिए कह कर विवाद शांत कराया गया।

मामले में इंस्पेक्टर बरनाहल अशोक कुमार ने बताया कि दारोगा के तमाचा मारने की बात सही नहीं है। थाने का घेराव नहीं हुआ। दोनों पक्षों से अभिलेख मांग गए हैं, उसके आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप