जासं, मैनपुरी: शासन वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ाने की तैयारी में है। इसके लिए जुलाई से नई गाइडलाइन के तहत अभियान चलाकर वैक्सीनेशन कराया जाएगा। शहर और गांवों को दो अलग-अलग हिस्सों में बांट पहले जागरूकता फैलाई जाएगी। खास बात यह है कि इस बार जुलाई माह से चलने वाले अभियान में परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों को भी शामिल किया जाएगा।

शासन का मानना है कि शिक्षक सीधे तौर पर बच्चों के अभिभावकों से जुडे़ होते हैं। लिहाजा, उनके समझाने का प्रभाव भी अन्य लोगों की अपेक्षा ज्यादा और बेहतर होगा। लोगों को वैक्सीन के फायदों की जानकारी हो सके, इसके लिए 17 जून से 26 जून तक गांव-गांव प्रचार-प्रसार के काम कराए जाएंगे। सीएमओ डा. एके पांडेय का कहना है कि जन जागरूकता के माध्यम से ही वैक्सीनेशन के प्रति लोगों की सोच बदलेगी। नई गाइडलाइन के तहत काम की तैयारी शुरू कर दी गई है। पायलट प्रोजेक्ट की टाइम लाइन

जागरूकता प्रसार, वैक्सीनेशन

- 17 से 19 जून, 21 और 22 जून

- 19 से 22 जून, 23 और 24 जून

- 22 से 24 जून, 25 और 26 जून

- 24 से 26 जून, 28 से 30 जून हर राजस्व गांव में होगी मोबिलाइजेशन टीम

नई गाइडलाइन के तहत हर एक राजस्व गांव में मोबिलाइजेशन टीम का गठन किया जाएगा। इस टीम में ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, पंचायत सचिव, युवक मंगल दल एवं महिला मंगल दल के सदस्यों को शामिल किया जाएगा। इन सभी का काम गांवों में वैक्सीनेशन के लिए बेहतर माहौल तैयार करना होगा। जागरूक लोगों का भी लिया जाएगा सहयोग

सीएमओ का कहना है कि ऐसे लोग जिनका समाज में अच्छी पैठ है और वो वैक्सीन लगवा चुके हैं, ऐसे लोगों की भी मदद ली जाएगी। ऐसे लोगों से अपील की गई है कि वे अपने संपर्क में आने वाले लोगों को साथ लाकर उनका भी वैक्सीनेशन कराएं। यदि ज्यादा संख्या में लोग एक स्थान पर उपस्थित रहते हैं तो स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्थाई कैंप का आयोजन कराकर वहीं वैक्सीन लगवाई जाएगी।

Edited By: Jagran