जागरण संवाददाता, महोबा : नगर पालिका प्रशासन स्वच्छ भारत मिशन को पलीता लगा रही है। शहर में जगह जगह गंदगी का अंबार लगा है। कूड़ा उठने का कोई समय नहीं है। सड़ा गला कूड़ा बीमारियों को भी दावत दे रहा है।

एक ओर जहां पूरे देश को साफ सुथरा बनाने की कवायद चल रही है। वहीं दूसरी ओर महोबा शहर में नगर पालिका प्रशासन की उदासीनता के चलते शहर में कई स्थानों और मुख्य मार्गो पर कूड़ा पड़ा रहता है। पालिका के पास सफाई कर्मियों की फौज है फिर भी शहर में गंदगी का अंबार है। शहर के रोडवेज बस स्टैंड और जिला अस्पताल के बीच में मीना बाजार वाली सड़क पर, जारीगंज शराब ठेका के पास, कसौरा, बंधानवार्ड, पेंचघर सहित कई स्थानों पर गंदगी का अंबार लगा रहता है। लोग इन स्थानों से गुजरने से परहेज करते हैं। दुकानदार और मोहल्लेवासियों की तो मजबूरी है। मीना बाजार के दुकानदारों ने बताया कि प्रतिदिन यहां पर शाम से ही कूड़ा डाला जाने लगता है, जो दूसरे दिन दोपहर तक पड़ा रहता है। कूड़े की बदबू से मुंह पर कपड़ा बांधना पड़ता है। समय से सफाई न होने से नागरिकों में गुस्सा है।

--------------

चिकित्सक की सलाह

जिला अस्पताल के डा. नरेंद्र ¨सह राजपूत का कहना है कि हो सके तो लोग कूड़े के पास से न निकलें। कूड़े से डायरिया, टाइफाइड, कालरा, एलर्जी, फेफड़ों में इंफेकशन, उल्टी दस्त और पीलिया जैसी घातक बीमारियां हो सकती है। जिस स्थान पर गंदा कूड़ा पड़ा हो वहां पर कोई भी खाने की चीज का सेवन कतई न करें।

---------

रोडवेज और जिला अस्पताल के बीच में जो कूड़ा पड़ा रहता है, वो डंप नहीं है। सात आठ गलियों का कूड़ा एकत्र कर सफाई कर्मी एक स्थान पर कूड़ा डालते है। इसके बाद इस कूड़े को ट्रक से शहर के बाहर फेंका जाता है। लोग जागरूक होंगे तो कूड़ा सड़क पर नहीं दिखेगा। रोडवेज और जिला अस्पताल को अपना कूड़ा शहर से बाहर फेंकने की व्यवस्था करने को कहा गया है।

-लालचंद्र सरोज, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद

Posted By: Jagran