जागरण संवाददाता, महोबा : सदर कोतवाली के बिलवई गांव में शुक्रवार तड़के कमरे में आग लगने से चारपाई पर सो रहे वृद्ध की जिदा जलकर मौत हो गई। ठंड से बचाव के लिए कमरे में आग जला रखी थी। बेटे के मुताबिक उठी चिंगारी से रजाई में आग लगने से घटना हुई।

बिलवई निवासी 75 वर्षीय दसैया अपने कमरे में आग जला कर सो रहे थे। बेटा जग्गू अपने परिवार के साथ दूसरे कमरे में सो रहा था। जग्गू ने बताया कि गुरुवार रात खाना खाने के बाद पिता अपने कमरे में सोने चले गए थे। सर्दी से बचने के लिए रोज की तरह उनकी चारपाई के पास आग जल रही थी। अनुमान है कि रजाई में आग छू गई और इतनी बड़ी घटना हो गई। तेज लपटें उठते देखकर उसने पड़ोसियों को आवाज दी। आसपास के लोगों की मदद से आग पर काबू पाया, लेकिन इसके पहले पिता की मौत हो चुकी थी। बेटे ने बताया कि आग लगने से कमरे में रखा गल्ला तथा अन्य सामान भी जल गया है। घटना की सूचना तहसीलदार को दी गई है। ग्रामीणों का कहना है कि सूचना देने के एक घंटे बाद दमकल पहुंची, तक तक आग पर काबू पा लिया गया था। सदर तहसीलदार बालकृष्ण ने बताया कि बिलवई में आग लगने से किसान की सोते समय जलकर हुई मौत की सूचना मिली थी, मौके पर लेखपाल को भेज कर रिपोर्ट मंगाई है। दिवंगत के आश्रित को नियमानुसार आर्थिक मदद दिलाई जाएगी।

वहीं, घटना की जानकारी होने पर स्थानीय लोगों की भीड़ गांव में जुट गई।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप