महोबा, जागरण संवाददाता। Mahoba News जिला उप कारागार में हत्या के प्रयास मामले में दस साल की सजा काट रहे कैदी ने जेल में डाई पी ली। तबीयत बिड़ने पर जेल प्रशासन की ओर से महोबा जिला अस्पताल में उसे भर्ती कराया गया है। उसकी हालत में सुधार है। कैदी ने जेल में अपने साथ मारपीट किए जाने का आरोप जेल पुलिस पर लगाया है।

महोबा उपकारागार में मप्र के जनपद छतरपुर के मोहल्ला संकट मोचन निवासी 32 वर्षीय जमाल पुत्र मुन्ना तीन साल से जेल में बंद है। उसे 10 साल के कारावास की सजा सुनाई गई है। शनिवार दोपहर को कैदी जमाल ने बैरक में डाई पी ली। जेल में उल्टी होने और चीखने चिल्लाने पर साथी कैदियों ने जेल प्रशासन को सूचना दी।

प्रशासन तुरंत हरकत में आया। कैदी को पहले जेल के डाक्टर ने चेक किया। कैदी ने बताया कि उसने डाई पी ली है। जमाल को पहले जेल में ही उल्टी कराई गई और फिर जेलर ने उसे पुलिस अभिरक्षा में जिला अस्पताल भेजा। जहां पर डा. ने उसका इलाज किया।

डा. योगेंद्र राजावत ने बताया कि उपचार के बाद कैदी की हालत में सुधार हो रहा है। कैदी ने बताया कि जेल प्रशासन उसके साथ मारपीट करता है। जिससे उसने परेशान होकर डाई पी ली थी। जेलर शिवमूरत सिंह ने बताया कि जेल में मेंहदी या डाई ले जाना मना है, हो सकता है यह अदालत जाने के दौरान कहीं अपने स्वजन से ले आया होगा। कैदी ने मारपीट का आरोप गलत लगाया है। 

Edited By: Nitesh Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट