महराजगंज: विकास भवन सभागार से मुख्य विकास अधिकारी पवन अग्रवाल ने शुक्रवार को सातवीं आर्थिक गणना का शुभारंभ करते हुए सभी प्रगणकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि यह भारत सरकार का सबसे महत्वपूर्ण कार्य है। इसमें हर घर का जनगणना होना अनिवार्य है। कोई भी घर न छूटने पाए, जिन घरों का जनगणना किया जाए, उस घर को चिन्हित अवश्य करें और यह सुनिश्चित करें कि कोई घर छूटा न हो।

सीएससी के जिला प्रबंधक राधेश्याम ने बताया कि गणना कार्य में कुल 671 प्रगणक व 4119 पर्यवेक्षक पंजीकृत हैं। पूर्व में सभी को जिला एवं तहसील तथा ब्लॉक स्तर पर प्रशिक्षण दिया जा चुका है। हर विकास खंड पर एक मास्टर ट्रेनर भी नियुक्त हैं। यह गणना मोबाइल अप्लीकेशन से किया जाना है। सर्वेक्षण के समय प्रत्येक परिवार का सभी प्रकार के उद्यमी की गणना की जाएगी ।

इस अवसर पर जिला सांख्यिकी अधिकारी अजय कुमार यादव, उप संख्याधिकारी ज्ञानेंद्र सिंह, शमशेर अली, अभिषेक त्रिपाठी, उपेन्द्र कुशवाहा, अरविन्द उपध्याय, विनोद वर्मा, सूरज कुमार वर्मा, सरवन प्रजापति, दीपा, रीमा आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस