महराजगंज: जिले में बाल स्वास्थ्य पोषण माह का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम के दौरान कुल करीब तीन लाख 43 हजार 458 बच्चों को दवा पिलाने का लक्ष्य निर्धारित है।

नगर पालिका परिषद महराजगंज के अध्यक्ष कृष्ण गोपाल जायसवाल ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तान्या, रूबेन तथा आयुष को विटामिन ए की घोल पिलाकर बाल पोषण माह का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के नोडल अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. राकेश कुमार ने कहा कि विटामिन ए की घोल पीने से बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। बच्चे स्वस्थ और पोषित रहेंगे। कार्यक्रम के तहत सभी एएनएम को अपने दायित्वों के प्रति सचेत रहना होगा। आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उन्हें सहयोग करेंगी। उन्होंने कहा कि नौ माह से पांच साल तक आयु वर्ग का कोई भी बच्चा दवा पीने से वंचित न होने पाएं। छह माह से 12 माह तक के 20022, एक से दो वर्ष आयु वर्ग के 86271 तथा दो से पांच वर्ष आयु वर्ग के दो लाख 37 हजार 165 बच्चे हैं। इस दौरान सदर सीएचसी के अधीक्षक डा. केपी सिंह, डा. नमिता गुप्ता, डीसीपीएम संदीप पाठक, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी श्रीभागवत सिंह, ब्लाक प्रोग्राम मैनेजर सूर्य प्रताप सिंह, ब्लाक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर लवली वर्मा, यूनिसेफ के डीएमसी अनिल तोमर, धर्मेन्द्र गुप्ता, स्टाफ नर्स प्रशांत और शिल्पा आदि मौजूद रहे।

हेपेटाइटिस के प्रति किया जागरूक

महराजगंज: आनंदनगर में बुधवार को विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर डा. सीबी पांडेय ने लोगों को जागरूक किया। उन्होंने हेपेटाइटिस से बचने का भी उपाय बताया। उन्होंने कहा कि वायरल हेपेटाइटिस से सभी लोगों को बचाव करना चाहिए। वायरल हेपेटाइटिस मुख्यत: पांच प्रकार के होते हैं। इनमें हेपेटाइटिस ए,बी,सी,डी और ई होता है। हेपेटाइटिस ए और ई दूषित, संक्रमित जल और भोजन के कारण होता है। हेपेटाइटिस बी,सी और डी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से होते हैं। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran