महराजगंज, जागरण संवाददाता। पनियरा क्षेत्र के रजौड़ा कला गांव में बन रहे काली मं‍द‍िर की छत सोमवार को भरभरा कर ग‍िर गई। ज‍िससे एक मजदूर की मलबे से दबकर मृत्‍यु हो गई, जबक‍ि पांच अन्‍य मजदूर गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों का इलाज पन‍ियरा के एक नर्स‍िंगहोम में चल रहा है।

ऐसे हुआ हादसा

गांव में काली मां का प्राचीन मंद‍िर है। पर‍िसर में एक अन्‍य मंद‍िर का न‍िर्माण ग्रामीणों के सहयोग से माह भर पूर्व शुरू हुआ था। सोमवार को मंद‍िर की छत लगाई जा रही थी। इस कार्य के ल‍िए बड़ी संख्‍या में मजदूर व म‍ित्री भी लगे थे। ग्रामीणों के मुताबि‍क छत न‍िर्माण का कार्य अंत‍िम चरण में था, क‍ि अचानक पूरी छत भरभरा कर ग‍िर गई। ज‍िससे छत के नीचे खडे़ गांव के न‍िवासी मजदूर घरभरन निषाद की मौके पर ही मृत्‍यु हो गई। जबक‍ि जितेंद्र, रामधन , शैलेश, किशोर , जिताई चोटिल हो गए । छत ग‍िरते ही वहां अफरा-तफरी मच गई। बड़ी संख्‍या में ग्रामीण मौके पर जुट गए।

मौके पर पहुंचे डीएम, एसएसपी

घटना की सूचना पाकर डीएम सत्‍येन्‍द्र कुमार, एसपी डा. कौस्‍तुभ, एडीएम डा. पंकज कुमार वर्मा सह‍ित अन्‍य अध‍िकारी मौके पर पहुंच गए। डीएम व एसपी ने ग्रामीणों से पूरे मामले की जानकारी प्राप्‍त की। उन्‍होंने घायल मजदूरों के समुच‍ित इलाज का प्रबंधक करने का न‍िर्देश भी द‍िए। डीएम ने कहा क‍ि छत ग‍िरने से मृत मजदूर के स्‍वजन को अहेतुक सहायता उपलब्‍ध कराई जाएगी।

मजदूर की मौत से बेपात हुए स्‍वजन, पसरा सन्‍नाटा

रजौड़ा कला गांव में मजदूर घरभरन न‍िषाद की मृत्‍यु से स्‍वजन बेपात हो गए हैं। रो-रोकर उनका हाल बेहाल है। उन्‍हें समझ में नहीं आ रहा है क‍ि अब पर‍िवार कैसे चलेगा। पत्‍नी व बच्‍चों के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। ग्रामीणों ने उन्‍हें ढांढस बंधाया। गांव के ही पांच मजदूरों के घायल होने से उनके घरों पर भी उदासी छाई है। ग्रामीण कह रहे हैं क‍ि पता नहीं ईश्‍वर को क्‍या मंजूर है क‍ि इस शुभ कार्य में भी व‍िघ्‍न पड़ गया। ग्रामीण सोचे थे क‍ि गांव में भव्‍य मंद‍िर बनवा कर पूजा अर्चना करेंगे, लेक‍िन लोगों की यह मनोकामना धरी रह गई।

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट