लखनऊ (जेएनएन)। स्वतंत्रता दिवस के दिन राष्ट्रगान गाने से बच्चों को मना करने के मामले में सुर्खियों में आए महाराजगंज के मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैयबा गल्र्स कॉलेज की मान्यता निलंबित कर दी गई है। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने इस मामले को बेहद गंभीर मानते हुए सोमवार को मान्यता निलंबित के आदेश जारी कर दिए। जल्द ही मदरसा बोर्ड की बैठक में इसकी मान्यता वापस लेने का प्रस्ताव रखा जाएगा।

महाराजगंज के इस मदरसे का वीडियो वायरल होने के बाद प्रदेश सरकार हरकत में आई थी। उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने इस मामले की विस्तृत रिपोर्ट महाराजगंज के जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी (डीएमओ) से तलब की। इसमें पाया गया कि मदरसा में झंडारोहण के दिन स्थानीय निवासी जुनैद अंसारी ने बच्चों को राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया था। इसका मदरसा आधुनिकीकरण के शिक्षक सुनील कुमार त्रिपाठी व दो अन्य ने विरोध भी किया गया था लेकिन, इनके अलावा किसी अन्य शिक्षक ने यहां कोई विरोध नहीं किया। इस कारण मदरसे में राष्ट्रगान नहीं हो सका।

मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार एसएन पाण्डेय ने बताया कि डीएमओ की जांच रिपोर्ट में पाया गया कि राष्ट्रीय पर्व के अवसर पर मदरसे की प्रबंध समिति के कोई भी पदाधिकारी वहां उपस्थित नहीं थे। इससे प्रतीत होता है कि प्रबंधतंत्र को मदरसा संचालन में कोई रुचि नहीं है। उन्होंने बताया कि मदरसा के प्रधानाचार्य मौलाना फजलुर्रहमान को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इसमें मुख्य आरोपी के खिलाफ भी पुलिस ने कार्रवाई की है। रजिस्ट्रार ने बताया कि मदरसे में शिक्षण कक्षों व छात्र संख्या भी मानक के अनुरूप नहीं मिले हैं। इसलिए इस मदरसा की तत्काल प्रभाव से मान्यता निलंबित कर दी गई है। मदरसा बोर्ड की आगामी बैठक में इसकी मान्यता प्रत्याहरण का प्रस्ताव पास कराया जाएगा।  

Posted By: Ashish Mishra