कैचवर्ड: आन द स्पाट

़फोटो: 11 एमआरजे: 36

जागरण संवाददाता, लक्ष्मीपुर : सरकार द्वारा गरीबों के इलाज के लिए अस्पतालों में बेहतर सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं, लेकिन डाक्टरों की लापरवाही से मरीजों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। कुछ ऐसी ही स्थिति शुक्रवार को नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जंगल गुलरिहा में देखने को मिली।

स्थान- नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जंगल गुलरिहा

दिन- शुक्रवार

समय- 11.30 बजे

अस्पताल में मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं की हकीकत जानने जागरण टीम पहुंची तो गेट पर ताला लगा था। कुछ देर बाद सफाईकर्मी विष्णु ने ताला खोला, लेकिन कोई भी डाक्टर व कर्मचारी मौजूद नहीं था। अस्पताल के अधिकांश कक्षों में ताला बंद था। इलाज के लिए आए मरीज डाक्टर के इंतजार में परेशान देखे गए। यहां आए झिनकू चौबे ने बताया कि यह अस्पताल माह भर से बंद चल रहा है। इलाज के लिए आने वाले मरीज डाक्टर का इंतजार कर घर वापस लौट जा रहे हैं। लक्ष्मीपुर सीएचसी के अधीक्षक डा. दिवाकर राय ने बताया कि अस्पताल में डाक्टर सहित अन्य कर्मचारियों की तैनाती है, फिर भी अस्पताल का न खुलना गंभीर मामला है। जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

--

एसडीएम ने किया लक्ष्मीपुर सीएचसी का निरीक्षण

लक्ष्मीपुर : लक्ष्मीपुर सीएचसी का शुक्रवार को देर शाम एसडीएम नौतनवा ने निरीक्षण कर स्वास्थ सुविधाओं सहित कोरोना टीकाकरण व जांच का जायजा लिया।

उपजिलाधिकारी रामसजीवन मौर्य ने स्वास्थ्य कर्मियों की उपस्थिति व इमरजेंसी सेवा के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने वैक्सीन कक्ष का निरीक्षण कर अधिक से अधिक टीकाकरण कराने का निर्देश दिया। डा. अरुण कुमार गुप्ता, रामकृष्ण जायसवाल, शांति सिंह, अजय गुप्ता उपस्थित रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप