महराजगंज: कोरोना वायरस से बचाव के लिए अधिकांश संस्थानों को बंद कर दिया गया है। लाकडाउन होने से सरकारी कार्यालय में लोग नहीं जा रहे हैं। ऐसे में अधिकारी घर से काम करने की शुरूआत कर चुके हैं। ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। अधिक समय उनका घर में बीत रहा है। आफिस जैसा माहौल नहीं होने से काम में थोड़ी दिक्कत आ रही है। परिवार के लोग भी काफी खुश हैं। घर में कर रहे सरकारी काम:

लाकडाउन से कलेक्ट्रेट में फरियादी नहीं पहुंच रहे हैं। कार्यालयों में काम प्रभावित हो रहा है। इसको देखते हुए एडीएम कुंजबिहारी ने घर से ही सरकारी कामों को निपटाने का फैसला लिया। हालांकि काम करने में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। आफिस से ज्यादा समय घर पर बैठकर काम करते हैं। उन्होंने बताया कि दिनभर भागदौड़ मची है। रात में आफिस का काम घर पर निपटा रहा हूं। कर्मचारी भी काफी परेशान हैं । ऐसे में उनका काम भी करना पड़ रहा है। घर में माहौल को तैयार कर लिया गया है। लाकडाउन खत्म होने में समय लगेगा। अधिकांश काम घर से हो रहा है। दीवानी न्यायालय में शासकीय अधिवक्ता ब्रजेंद्र त्रिपाठी, संतोष मिश्र लाकडाउन होने के बाद घर से मुकदमों का काम देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि अपने आवास के कमरे में आफिस बनाकर फाइल तैयार कर रहे हैं। इसके साथ ही मुकदमे की पैरवी के लिए रोजाना घंटे पढ़कर केस की बारीकियों की समझ रहे है। उनके साथ परिवार के अन्य सदस्य सहयोग कर रहे हैं। ताकि कचहरी के काम को घर पर निपटाकर कोरोना की जंग से लड़ा जा सके। अधिवक्ता सोमनाथ चौरसिया घुघली स्थित आवास से अपना काम काम देख रहे हैं। कचहरी बंद होने कारण कोर्ट में लंबित मुकदमों की फाइल पढ़कर उसे समझ रहे हैं। बीएसए जगदीश शुक्ल ने कहा कि लाकडाउन के चलते घर पर ही शासकीय कार्य निपटना पड़ रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस