महराजगंज: श्यामदेउरवा थाना क्षेत्र के परतावल बाजार में रुपयों के बंटवारे को लेकर पिता-पुत्र की हत्या व पांच को जेल होने के बाद भी रुपये के बंटवारे को लेकर विवाद अभी भी खत्म नहीं हुआ है। चार लाख के बंटवारे को लेकर मारे गए श्रीराम की पत्नी मनीषा व दो रिश्तेदारों के बीच बुधवार को विवाद हुआ, जो मारपीट में बदल गया।

परतावल में दो दिन पहले हरी गौड़ व उनके पुत्र श्रीराम की पैसे के बंटवारे को लेकर घर में हत्या कर दी गई थी। इस हत्या में शामिल हरी के दो पुत्रों, दो बहुओं समेत पांच को पुलिस ने मंगलवार को जेल भेज दिया था पर बुधवार को फिर हरी के घर में चार लाख रुपये के बंटवारे को लेकर जम कर जूतम पैजार हुई।

मृत श्रीराम की पत्नी मनीषा, श्रीराम की पहली पत्नी के भाई ¨चटू व बहनोई गौतम उर्फ छेदी आपस में टकरा गए। ¨चटू ने कहा कि हमारे भांजे आदित्य की परवरिश व पढ़ाई के लिए पैसा चाहिए तो बहनोई गौतम उर्फ छेदी ने ससुर व साले के क्रिया कर्म के लिए पैसे की मांग की।

विवाद बढ़ने की सूचना पर श्यामदेउरवा थाने के प्रभारी निरीक्षक रामपाल यादव मय फोर्स मौके पर पहुंच गए और मौके से 3.54 लाख रुपया बरामद कर लिया। बरामद धन में से 15 हजार रुपये पुलिस ने मेडिकल कालेज में मौत से जूझ रही गेंदा देवी के इलाज के लिए रखवा दिया, जबकि शेष पैसे बैंक में जमा करा दिया। कहा कि जब गेंदा देवी स्वस्थ होकर घर आएंगी तभी पैसों का बंटवारा आप सब करना। जिस घर से दो लाश उठी हो उस घर के लोगों का इस तरह पैसे को लेकर टकराना ठीक नहीं है। दोबारा विवाद किया तो विधिक कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran