महराजगंज: घुघली क्षेत्र के मटकोपा गांव में रामलीला के कलाकारों द्वारा बीती रात सीता हरण का शानदार मंचन किया गया।

रामलीला मंच का उद्घाटन पूर्व प्रधानाचार्य एवं पूर्व चेयरमैन वीरेंद्र सिंह, विश्व हिदू महासंघ के जिला अध्यक्ष महंत बालक दास, फणीस दत्त त्रिपाठी, पंडित ध्रुव नारायण तिवारी, सीताराम मौर्य, ग्राम प्रधान बुदेश भारती, हरिहर तिवारी आदि ने फीता काटकर किया। एक दिन रावण की बहन सूर्णपखा आकाश की ओर से जा रही थी। उसकी नजर चित्रकूट की कुटिया में श्रीराम-लक्ष्मण पर पड़ी। वह उन्हें देखकर उन पर मोहित हो गई। लक्ष्मण ने माता सीता को उससे बचाते हुए उसकी नाक काट दी थी। सूपर्णखा रोते हुए रावण के पास गई और वहां जाकर सब बात बताई। तब रावण ने गुस्से में सीता हरण की योजना बनाई।

लक्ष्मण रेखा से बाहर आकर भोजन देने को कहा कि साधु के रूप में रावण भोजन लेने सीता की कुटिया के पास आया और सीता से लक्ष्मण रेखा से बाहर आकर भोजन देने को कहा। जैसे ही सीता भोजन देने लक्ष्मण रेखा से बाहर आईं रावण ने उनका अपहरण कर लिया।

इस अवसर पर राजाराम गुप्त, प्रकाश चंद्र चौहान, रामबदन, अरुण चौहान, धीरज, किशोर लाल, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, इश्तहार खान, साहिल व पुनीत कुमार श्रीवास्तव मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस