महराजगंज:

शहरी इलाके में भी बांस बल्ली के सहारे बिजली आपूर्ति की जा रही है। लंबे समय से लगे बांस बल्ली जर्जर हो गए हैं। तार लटक कर सड़कों को छू रहे हैं और तारों के मकड़जाल से राहगीरों की जान जोखिम में है। अव्यवस्था के कारण जर्जर तारों पर बिजली मौत बनकर दौड़ रही है। नगर के चिउरहा वार्ड में शिवशंकर के घर से लेकर बेचू प्रसाद के मकान तक करीब चार सौ मीटर बांस-बल्ली के सहारे विद्युत आपूर्ति की गई है। जबकि सरोजनीनगर में बिहारी लाल श्रीवास्तव के मकान से सुनील श्रीवास्तव के घर तक करीब 200 मीटर तार दीवार और बांस-बल्ली के सहारे पहुंची है। इसी प्रकार वार्ड के मेन रोड पर विजय सिंह के घर से अविनाश के घर तक तारों का मकड़जाल है। लेकिन जिम्मेदारों की नजर इस पर नहीं पड़ रही है।

--------------

फोटो: 15 एमआरजे: 40

गर्मी और बरसात के मौसम में शार्ट सर्किट ज्यादा होता है। तार इस तरह से झूलते हैं, इसमें कभी भी दुर्घटना हो सकती है। शिवकुमार

-------------

फोटो: 15 एमआरजे: 41 बांस के पोल के सहारे बिजली आपूर्ति की जा रही है। इससे आए दिन दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। लेकिन विभाग इसके प्रति गंभीर नहीं है।

कमलेश यादव

---

फोटो: 15 एमआरजे: 42

जिस बांस-बल्ली के माध्यम से तार दौड़ाया गया है, वह कमजोर हो गया है। तार इस तरह से झूलते हैं, कि कभी भी दुर्घटना हो सकती है। छोटे लाल

---

फोटो: 15 एमआरजे: 43

बिजली विभाग उपभोक्ताओं से बिल के नाम पर मोटी रकम वसूल रही है। लेकिन बिजली व्यवस्था दुरुस्त रखने में गंभीर नहीं नजर आ रही है। रमजान अली

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप