महराजगंज: लॉकडाउन के दौरान पुलिस प्रशासन की ओर से सुबह खरीदारी के लिए दी जाने वाली ढील मुसीबत बन सकती है। सुबह होते ही लोग सड़कों पर साइकिल, दो पहिया व चार पहिया वाहन लेकर निकल जा रहे हैं। मेडिकल स्टोर, सब्जी व किराने की दुकान,फल का ठेला पर काफी भीड़ हो जा रही है। एक दूसरे के बीच निश्चित दूरी का भी पालन नहीं हो पा रहा है। नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे और कस्बों की सड़कों पर सुबह से लेकर भीड़ दिखी जा सकती है।पुलिस के सड़क पर आते ही भीड़ धीरे-धीरे कर खत्म हो जा रही है।सुबह पांच बजे से 11 बजे तक धारा 144 का पालन नहीं हो पा रहा है। तीन चार दिनों तक चली सख्ती के बाद पुलिस प्रशासन के अधिकारी बैकफुट पर नजर आ रहे हैं।

लॉकडाउन के दौरान किसी को समस्या न हो इसके लिए प्रशासन की ओर से सुबह की खरीदारी में ढील दी गई है। सुबह छह बजे से दस बजे तक आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, सब्जी मंडी, पेट्रोल पंप आदि खोलने का निर्देश दिया गया है। जरूरत के हिसाब से घर का एक व्यक्ति बाहर निकल कर सामान खरीदने जा सकता है। संभव हो तो वह पैदल मार्केट में निकले। हालांकि पुलिस की ओर से बाइक ले जाने की छूट दी गई है। लेकिन यह राहत अब भारी पड़ रही है। बाइक पर दो से तीन सवारी कहीं भी दिख जायेंगे। लोगों के बीच निश्चित दूरी का भी पालन नहीं किया जा रहा। सुबह सड़क पर होने वाली इन गतिविधियों को देखने वाला कोई नजर नहीं आता। जिसकी वजह से आने वाले दिनों में यह लापरवाही भारी पड़ सकती है।

दोपहर होते ही सड़कों पर सन्नाटा पसर जा रहा है। इस दौरान पुलिस भी सक्रिय हो जा रही है। जगह-जगह लोगों को रोका जा रहा है। शहर में बेवजह घूमने वालों से कारण पूछा जा रहा है। दोपहर से लेकर शाम तक सड़कों पर भीड़ कम हो जा रही है। मंगलवार को भी सक्सेना तिराहे, बलिया नाला, हमुमानगढ़ी, कालेज रोड, मऊ पाकड़, चिऊरहा रोड, चौक रोड, सिविल लाइन, टेड़वा कुटी सहित अन्य इलाकों पर पुलिस घूम घूम कर लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की अपील करती नजर आई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस