महराजगंज: कोरोना से बचाव के टीकाकरण को लेकर लोगों के बीच गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है। टीकाकरण केंद्रों पर लग रही प्रतिदिन लोगों की भीड़ इसका गवाह बन रही है। मंगलवार को जिला महिला चिकित्सालय पर टीकाकरण के लिए पूरे दिन लोगों की लंबी लाइन लगी रही। इस दौरान कुल 6063 लोगों को टीका लगाया गया, वहीं 2936 लोगों की कोरोना की जांच हुई।

जिला महिला अस्पताल, सीएचसी, पीएचसी सहित निर्धारित कुल 35 स्थानों पर टीकाकरण का कार्य सुबह नौ बजे से शुरू हुआ। मंगलवार को सुबह से ही जिला अस्पताल, श्यामदेउरवा, मिठौरा, फरेंदा सहित ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की कतार लग रही है। जिला महिला अस्पताल पर देर शाम तक लाइन लगी रही। नोडल अधिकारी डा. आइए अंसारी ने बताया कि मंगलवार को 6063 लोगों को टीका लगाया गया है। 1468 लोगों की एंटीजन से जांच की गई है। जबकि आरटीपीसीआर जांच के लिए 1468 नमूने भेजे गए हैं।

एक मिला संक्रमित, एक हुआ स्वस्थ

महराजगंज: कोरोना को लेकर मंगलवार को भी राहत भरी खबर है। मंगलवार को हुई जांच में जहां दो मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है,वहीं एक युवक की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई है। जिले में कुल संक्रमितों की संख्या 12377 है। इसमें 12235 मरीजों ने कोरोना को मात दे दी है। अब तक 136 कोरोना मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या मात्र सात रह गई है।

आनलाइन पंजीकरण की अनिवार्यता ने बढ़ाई परेशानी

महराजगंज: कोरोनारोधी टीका लगवाने के लिए नौतनवा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भारी भीड़ उमड़ रही है। इस बीच टीकाकरण के लिए आनलाइन पंजीकरण की हुई अनिवार्यता ने भी लोगों की परेशानी बढ़ा दी है, जिसके चलते लोगों को वापस लौटना पड़ रहा है। मंगलवार को अस्पताल पर टीकाकरण के कागजी पंजीकरण की व्यवस्था समाप्त कर नए नियम जारी किए गए। कुछ लोगों से स्वास्थ्यकर्मियों की नोकझोंक भी हुई। सीएचसी प्रभारी डा.अमित राव गौतम को बाहर निकलना पड़ा और महिला कतार में हो रहे शोरगुल को शांत कराना पड़ा। लीलावती, भवानी देवी, सरस्वती, भोला व महेंद्र का कहना है कि महुअवा गांव से आए हैं। उनके गांव के लोग कुछ दिन पहले केवल आधार कार्ड लेकर आए थे। उनको टीका लग गया। अब उनसे यह कहा जा रहा है कि बिना आनलाइन पंजीकरण के टीका नहीं लगेगा। इसलिए उन्हें वापस लौटना पड़ रहा है।

Edited By: Jagran