महराजगंज: कोरोना को देखते हुए हाईकोर्ट ने भले ही ताजिया जुलूस पर प्रतिबंध लगा रखा था, लेकिन जिले में पुलिस कोर्ट के आदेश का पालन नहीं करा पाई। कोतवाली व कोल्हुई थानाक्षेत्र के कई जगहों पर ताजिया रखा गया। पनियरा कस्बे में ताजिया जुलूस निकालने के मामले में 20 लोगों पर महामारी फैलाने का आरोप लगाते हुए पुलिस की ओर से मुकदमा दर्ज किया गया।

पनियरा थाने में तैनात उप निरीक्षक प्रिस कुमार ने तहरीर दी कि रविवार को पनियरा कस्बा में नसरूद्दीन की ओर से एक ताजिया रखी गई थी। पुलिस के आदेश की अवहेलना करते हुए ताजियादारों की ओर से भीड़ एकत्र की गई। लोग फिजिकल डिस्टेंसिग की परवाह नहीं किए और बिना मास्क के जुलूस में पहुंच गए। जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण के फैलने की आशंका बढ़ गई। दारोगा की तहरीर पर पुलिस ने पनियरा कस्बा निवासी नसरूद्दीन, सलीम, रब्बुनिशा, सूफी, आसमा खातून, साहिन, अंजूम, दयानंद, अनिल, सुनील और 10 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस ने हटवाया ताजिया:

सिदुरिया, महराजगंज: कोतवाली थानाक्षेत्र के परसामीर में रविवार की रात कुछ लोग ताजिया रखकर करतब दिखा रहे थे। किसी ने सूचना पुलिस को दे दी। चौकी प्रभारी सिदुरिया गंगा राम यादव फोर्स के साथ पहुंचे और ताजिया को कब्जे में ले लिया। ताजियादारों को चेतावनी देकर पुलिस लौट गई। वहीं, ताजियादारों ने पुलिस पर ताजिया तोड़ने का आरोप लगाया है। वहीं, नरायनपुर गांव में ताजिया के पास डीजे बजाने के आरोप में पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया और शांतिभंग में उनका चालान कर दिया। कोतवाल एके सिंह ने बताया कि परसामीर से ताजिया हटाया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021