संतकबीर नगर: डीपीआरओ ने जनपद के 16 पंचायत सचिवों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इन सचिवों ने पिछले वित्तीय सत्र 2018-19 में राज्य वित्त व 14 वें वित्त मद से मिली धनराशि तो खर्च कर ली लेकिन इन्होंने 54 ग्राम पंचायतों में हुए 2.75 करोड़ रुपये खर्च का हिसाब नहीं दिए हैं। डीएम व सीडीओ की सख्ती तथा कई बार चेतावनी देने के बाद भी इन पर कोई असर नहीं पड़ा। ये अभी तक उपभोग प्रमाण पत्र नहीं जमा कर पाए हैं।

जनपद के खलीलाबाद में सर्वाधिक 44, बघौली में सात, नाथनगर में दो व हैंसर बाजार में एक यानी इन चार ब्लाकों के 54 ग्राम पंचायतों के 16 सचिवों ने अब तक सरकारी धन के खर्च का हिसाब नहीं दिया हैं। आवंटित सरकारी धनराशि से इन्होंने कब, कहां, कौन सा कार्य कराएं हैं, इनके पास इसका जवाब नहीं है। इसके कारण ये अब तक उपभोग प्रमाण पत्र दे नहीं पाए हैं। पंचायतीराज विभाग ने भी मान लिया है कि ये सरकारी धनराशि का गबन कर लिया है।बहरहाल डीपीआरओ ने खलीलाबाद ब्लाक में निधि मिश्र, महेश कुमार, अनिल सिंह, अभय सिंह, अवधेश अग्रहरि, अशोक राय, आनंद मोहन, राज नारायण शुक्ल, अलका पाण्डेय, भारती शर्मा व मंजूषा, नाथनगर ब्लाक में विकास कुमार श्रीवास्तव व शिव प्रकाश सिंह, बघौली ब्लाक में क्षितिज चौधरी व दीप श्रीवास्तव तथा हैंसर बाजार ब्लाक में तैनात मेघनाथ चौधरी को नोटिस भेजा है।

डीपीआरओ आलोक कुमार प्रियदर्शी ने कहा कि तीन दिन के अंदर सभी 16 पंचायत सचिवों से जवाब मांगा गया है। इस अवधि में संतोषजनक जवाब न मिलने पर एक पक्षीय निर्णय लेते हुए इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई कर दी जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस