UP News: लखनऊ, राज्य ब्यूरो। अपने छह माह के कार्यकाल के 'नवाचार' साझा करते हुए विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना (Assembly Speaker Satish Mahana) ने निकट भविष्य के लिए तय लक्ष्य भी गिनाए। संसदीय व्यवस्था में परिवर्तन के साथ ही प्रबेधन जैसे कार्यक्रमों पर उनका जोर रहेगा। पहली बार महिला विधायकों के लिए विशेष सत्र आयोजित करने वाले विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने तय किया है कि अब विधानसभा में यूथ पार्लियामेंट आयोजित करने की भी पहल की जाएगी।

विधानभवन में गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने बताया कि जल्द ही युवा संसद (यूथ पार्लियामेंट) आयोजित करने की योजना है, जिसमें युवाओं को आमंत्रित किया जाएगा। इस युवा संसद की रूपरेखा को शीघ्र ही अंतिम रूप दिया जाएगा। इस युवा संसद का मुख्य उद्देश्य यह होगा कि प्रदेश के युवा, संसद एवं उसकी कार्यवाही के प्रति संवेदनशील हों और उनको इस बात के लिए उत्साहित किया जा सके कि वे संसदीय जीवन में आने की भी अभिलाषा रखें। कहा कि संभवत: ऐसा पहली बार हो रहा है।

संसदीय रिपोर्टिंग के लिए पत्रकारों के लिए कार्यशाला

इसी तरह संसदीय रिपोर्टिंग के लिए पत्रकारों के लिए भी कार्यशाला आयोजित की जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों अभिनव प्रयोग करते हुए विधानसभा के सदस्यों को उनकी शैक्षणिक योग्यता और व्यवसाय के आधार पर समूह बनाकर उनके साथ संवाद करने से उनकी समस्याओं की जानकारी मिली। मुख्य उद्देश्य यह है कि इससे सदन के संचालन में भी सहयोग रहता है। भविष्य में विशेषज्ञ समूह बनाकर उन्हें अलग-अलग जगह विजिट के लिए भेजा जाएगा।

दोनों सत्रों में सदन एक बार भी नहीं हुआ स्थगित

विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने बताया कि विधानसभा में पहली बार महिला विधायकों के लिए एक विशेष सत्र हुआ जिसकी चर्चा पूरे देश में हुई। उस सत्र में सभी के भाषणों पर पुस्तक प्रकाशित कराई जाएगी जिसे संसद व सभी राज्यों की विधानसभा में भेजेंगे। इसके अलावा विधानसभा की प्रक्रिया एवं नियमावली की जटिलताओं के सरलीकरण की योजना भी है ताकि नवनिर्वाचित विधायकों को उसे समझने में कठिनाई न हो। उपलब्धियों की चर्चा करते हुए महाना बोले कि देश की सबसे बड़ी उत्तर प्रदेश विधानसभा में ई-विधान की व्यवस्था लागू की गई, जिसको पूरे देश में सराहा गया। वहीं, अठारहवीं विधानसभा के गठन के बाद दोनों सत्रों में यह विशेष उपलब्धि रही कि सदन एक बार भी स्थगित नहीं हुआ।

विधायकों की गाड़ियों में लगेगी चिप

विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने बताया कि विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था को संसद की तरह चाक-चौबंद किया जा रहा है। एक्सेस कंट्रोल सिस्टम लग चुका है। दूसरे चरण में सभी विधायकों की गाड़ियों में चिप भी लगाई जाएगी, ताकि वह बिना रोकटोक आ-जा सकें और बाकी गाड़ियों को रोककर जांच की जाए।

Edited By: Umesh Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट