लखीमपुर, जेएनएन। क्षेत्र के चर्चित ओमप्रकाश हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। हत्या लखीमपुर जिले के ही मोहम्मदी थाना क्षेत्र के गांव मजीदपुर मड़ैया गांव निवासी मृतक के चचेरे भाई ने परिवार की महिला से छेड़छाड़ के विरोध में की थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी डॉ. एस चिनप्पा ने भी आरोपित से पूछताछ की। जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया।

आठ नवंबर को पुवायां थाना क्षेत्र के गांव बिलसड़ी खुर्द गांव के पास गन्ने के खेत के किनारे बोरे में बंद युवक का शव मिला था। ग्रामीणों ने मामले की जानकारी पुलिस को दी थी। करीब एक माह पहले पुलिस ने शिनाख्त लखीमपुर जिले के मोहम्मदी थाना क्षेत्र के गांव मजीदपुर निवासी ओमप्रकाश के रूप में कराई थी। मामले की जांच की तो हत्यारोपित ओमप्रकाश का ही चचेरा भाई अभिषेक निकला। मंगलवार देर रात पुलिस ने आरोपित को मोहम्मदी रोड से गिरफ्तार कर लिया। अभिषेक ने बताया कि ओमप्रकाश परिवार की ही एक महिला से आये दिन छेड़छाड़ करता था। इसको लेकर कई बार विवाद भी हो चुका था। लेकिन उसके बावजूद वह अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा था। सात नवंबर को गांव से कुछ दूरी पर जंगल में उसकी डंडे से पीटकर हत्या कर दी थी।

पांच दिन जंगल में ही बंधक बनाकर रखा

प्रभारी निरीक्षक जसवीर ङ्क्षसह ने बताया कि अभिषेक ने ओमप्रकाश को पांच दिन तक जंगल में बंधक बनाकर रखा। किसी को शक न हो इस लिए वह स्वयं घर आता-जाता रहा। सात नवंबर को शराब पिलाने के बाद डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। शव को एक बोरे में शव बंद कर लिया ताकि किसी को शक न हो। इसके बाद रात करीब आठ बजे बोरे को बाइक पर बांधकर पुवायां क्षेत्र के गांव बिलसड़ी खुर्द के पास फेंक दिया।

ऐसे हुआ शक

ओमप्रकाश का अभिषेक के परिजन से भूमि को लेकर कुछ विवाद चल रहा था। परिजनों ने भी पुलिस को इसके बारे में जानकारी दी थी। पुलिस ने जब अभिषेक के परिजनों से पूछताछ की तो विवाद धीरे-धीरे महिला से छेड़छाड़ का निकल कर सामने आया। 14 घंटे की पूछताछ के बाद आरोपित ने सारी सच्चाई पुलिस को बता दी।

एसपी डॉ. एस चिनप्पा ने बताया कि पुलिस टीम को 15 हजार रुपये का इनाम दिया गया है। सीओ नवनीत कुमार नायक को प्रशिस्त पत्र दिया गया।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस