लखनऊ, जेएनएन। सरोजनी नगर में महिला मित्र से नाराज होकर बिस्कुट फैक्ट्री कर्मी ज्ञानेंद्र कुमार (32) ने उसके ही घर पर फांसी लगा जान दे दी। दोनों लोग लखनऊ में अलग-अलग किराए के मकान पर रहकर नौकरी कर रहे थे। 

बाराबंकी के रामनगर गरी निवासी ज्ञानेंद्र कुमार (32) का दरोगा खेड़ा स्थित बिस्कुट की फैक्ट्री में काम करने के दौरान गौरी विहार में रहने वाली एक युवती से मित्रता हो गई। युवती यहां किराए के मकान में रहकर घरों में काम करती थी। बुधवार रात ज्ञानेंद्र कुमार उससे मिलने गया। जहां किसी बात के विवाद के बाद युवती के छत पर जाने के बाद उसके ही दुपट्टे से फांसी लगा ली।

कुछ देर पर छत से लौटी महिला मित्र ने शव को फंदे पर लटका देख पुलिस को सूचना दी। पुलिस के मुताबिक ज्ञानेंद्र शादीशुदा था। उसका 3 वर्ष पूर्व विवाह हुआ था। उसकी पत्नी परिवार के साथ गांव में रहती है। परिवारजन को सूचना दे दी गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और परिजनों के आरोप-प्रत्यारोप के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

चार साल से थे संबंध, पत्नी को जानकारी के बाद होने लगा विवाद

चार साल पहले दोनों के बीच दोस्ती हुई थी। ज्ञानेंद्र की शादी के बाद भी दोनों में संबंध नहीं टूटे। पुलिस के मुताबिक इसकी जानकारी होने पर पारिवारिक कलह शुरू हो गई। महिला मित्र के दूरी बनाने पर दोनों के बीच विवाद होने लगा। इसी क्रम में ज्ञानेंद्र ने यह कदम उठा लिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस