कानपुर (जेएनएन)। जम्मू कश्मीर में सेना के जवानों पर पत्थरबाजी करने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए शहर से भारी संख्या में लोग वहां जाने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए शहर के प्रत्येक वार्ड से 10-10 लोगों को शामिल कर टीम तैयार की जा रही है। युवाओं के साथ ही इस टीम में संत महात्मा भी होंगे। यह टीम सात मई को नानाराव पार्क से जम्मू कश्मीर के लिए रवाना होगी।


जन सेना के संस्थापक बालयोगी अरुण पुरी चैतन्य जी महाराज ने जाजमऊ स्थित हनुमत कृपा आश्रम में पत्रकारों से कहा कि जो लोग जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों पर पत्थर बरसा रहे हैं, वह देशद्रोही हैं। ऐसे लोगों को उन्हीं की भाषा में जवाब देना चाहिए। इसकी तैयारी भी पूरी कर ली गई है। इसके लिए शहर से पत्थरबाजों की सेना तैयार की गई है। यह सेना कश्मीर में तैनात भारतीय सेना का समर्थन करेगी और वहां के पत्थरबाजों को उन्हीं की भाषा में जवाब देगी।

उन्होंने बताया कि जनसैनिकों को ले जाने के लिए सौ से अधिक वाहनों की बुकिंग की गई है। एक एक ट्रक पत्थर, खाने की सामग्री व टेंट की व्यवस्था भी कर ली गई है। सात तारीख को नानाराव पार्क में विजयीश्री यज्ञ के बाद सेना वहां से निकलेगी। इस अवसर पर आनंदेश्वर मंदिर के महंत रमेश पुरी, पनकी हनुमान मंदिर के महंत कृष्ण दास समेत अन्य संत मौजूद रहे।  

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021