लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिए नवविवाहित जोड़ों को शगुन किट वितरित करेगी। यही नहीं विशेषज्ञों की मदद को लोगों को परिवार नियोजन के उपाए बताए जाएंगे। अब सास-बहू सम्मेलन में बेटे भी आमंत्रित किए जाएंगे और वह अपनी मां व पत्नी की खूबियां भी गिनाएंगे। सास-बहू संग बेटे कार्यक्रम के तहत लोगों को जागरूक किया जाएगा। यहां विशेषज्ञ परिवार नियोजन से जुड़े सवालों का जवाब देंगे। कार्यक्रम में प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएंगी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) उत्तर प्रदेश के चलाए जा रहे मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के तहत जागरूकता अभियान शुरू हो गया है। 20 अक्टूबर तक यह विशेष अभियान चलाया जाएगा। फिलहाल सभी स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर इस कार्यक्रम को आयोजित किया जाएगा।

आशा वर्कर ऐसे लोग जिनके तीन या उससे अधिक बच्चे हैं, एक वर्ष के अंदर उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को परिवार नियोजन के बारे में जानकारी दी जाएगी। वहीं ऐसे दंपत्ति जिनका पहला बच्चा विवाह के दो वर्ष बाद हुआ हो और दूसरे बच्चों में कम से कम तीन वर्ष का अंतराल हो, इन्हें भी आमंत्रित किया जाएगा। यह आदर्श दंपत्ति बताएंगे कि इसके क्या-क्या फायदे हैं।

सम्मेलन में प्रश्नोत्तरी इत्यादि प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएंगी। सही जवाब देने वालों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा।सम्मेलन के दौरान विगत एक वर्ष के दौरान चिन्हित नवविवाहित दम्पत्ति को परिवार नियोजन साधनों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने को 'शगुन किट' का वितरण भी किया जाएगा।

Edited By: Umesh Tiwari