राज्य ब्यूरो, लखनऊ : कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आने के पहले से ही उत्तर प्रदेश के हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में जुटी योगी सरकार ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। पहली बार प्रदेश को एक साथ नौ नए मेडिकल कॉलेजों की सौगात मिलने जा रही है। देवरिया, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, हरदोई, जौनपुर, मीरजापुर, प्रतापगढ़ और सिद्धार्थनगर में बनाए इन चिकित्सा संस्थानों का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी महीने उत्तर प्रदेश आकर करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर कोरोना संक्रमण और स्वास्थ्य संबंधी व्यवस्थाओं की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देशित किया कि उत्तर प्रदेश में बनकर लगभग तैयार हो चुके नौ नए मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण इसी महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाएगा। इसके लिए तैयारी शुरू कर दें।दरअसल, सीएम योगी का मानना है कि हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज होना चाहिए। इसी सोच के साथ सरकार ने तेजी से कदम आगे बढ़ाए और नौ मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कराया।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इनके लिए 70 फीसद फैकल्टी का चयन भी हो चुका है। 450 से अधिक संकाय सदस्यों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने चयन प्रक्रिया को शुचिता और पारदर्शिता के साथ करने का निर्देश दिया है। कहा है कि मेरिट के आधार पर अच्छे शिक्षकों का चयन होना चाहिए। बताया गया है कि प्रधानमंत्री का कार्यक्रम अभी तय नहीं हुआ है कि वह किस जिले में आएंगे। वह किसी भी एक जिले से सभी नौ मेडिकल कालेजों का वर्चुअल लोकार्पण कर सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में 2017 के पहले मात्र 12 मेडिकल कालेज ही हुआ करते थे। योगी सरकार के सत्ता संभालने के बाद से मेडिकल कालेजों की संख्या बढ़कर 48 हो चुकी है। 13 कालेजों के निर्माण का काम तेजी से चल रहा है।

गोरखपुर और रायबरेली एम्स में ओपीडी शुरू : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जोर प्रदेश को स्वास्थ्य सुविधाओं में आत्मनिर्भर बनाने पर है। स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करते हुए 441 आक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इनमें से 131 प्लांट शुरू हो चुके हैं। कुल 3500 स्वास्थ्य उपकेंद्र, 1475 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और 399 नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बन चुके हैं। 5424 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर चल रहे हैं। छह नए सुपर स्पेशियलटी ब्लाक बनाए गए हैं। वहीं, गोरखपुर व रायबरेली में एम्स की स्थापना के साथ ओपीडी शुरू हो चुकी है। अब इन नए मेडिकल कालेजों के खुलने से चिकित्सा सुविधा और बेहतर होने की उम्मीद है।

Edited By: Umesh Tiwari