लखनऊ, राज्य ब्यूरो । प्रदेश सरकार ने माइन मित्र पोर्टल https://upminemitra.in/ के जरिए खनन कारोबार से 400 करोड़ रुपये का राजस्व जुटाया है। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि यह राशि पोर्टल द्वारा प्रदान की गई खनिज प्रबंधन सेवाओं के माध्यम से परिवहन परमिट जारी करने से जुटाई गई है।

माइन मित्रा पोर्टल को प्रदेश सरकार ने खनन व्यवसाय में पारदर्शिता लाने और अवैध गतिविधियों की जांच करने के साथ-साथ आम लोगों, किसानों, पट्टेदारों और ट्रांसपोर्टरों को जवाबदेह बनाने के लिए विकसित किया गया है।

पोर्टल का उद्देश्य खनन उद्योग में एकाधिकार को समाप्त करना, कानूनी खनन को प्रोत्साहित करना और व्यवसाय में पारदर्शिता लाने और खनन से राज्य के राजस्व में वृद्धि करने के लिए नए उद्यमियों के लिए एक समान अवसर प्रदान करना है।

सरकार ने स्टाक लाइसेंस के लिए 1,155 आवेदनों के साथ-साथ खनिज जमा करने वाली कृषि भूमि के लिए 1,279 परमिट, निजी भूमि में खनिजों के लिए 435, सामान्य मिट्टी पर खनन के लिए 9,697 परमिट जारी किए हैं।

पोर्टल की एकीकृत खनन निगरानी प्रणाली सेवा के तहत 466 क्षेत्रों की जियो फेंस‍िंग की गई है। 330 क्षेत्रों में खदानों में पीटीजेड कैमरे और वजन लेने वाली मशीनें लगाई गईं हैं।

Edited By: Prabhapunj Mishra