लखनऊ (जेएनएन)। मुख्यमंत्री के रूप में अपना एक साल का कार्यकाल पूरा कर रहे योगी आदित्यनाथ को यह स्वीकार करने में कोई हिचक नहीं कि वह हिंदू हैं और उन्हें इस बात पर गर्व है, तो वह यह भी स्वीकार करते हैं कि 22 करोड़ लोगों के मुख्यमंत्री हैं। निमंत्रण मिलेगा तो मस्जिद भी जाएंगे। उनका कहना है कि मेरी आस्था निजी है। उसमें पाखंड का स्थान नहीं है। मैं घर में हनुमान चालीसा रखकर बाहर टोपी लगाने वालों में नहीं हूं।

आज एक निजी चैनल के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने सवालों के जवाब बेबाकी से दिए और पूर्व की सपा सरकार को कठघरे में खड़ा किया। एक सवाल पर कहा कि वह दो साल में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बनाकर देंगे। अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका शिलान्यास करेंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के सर्वे का काम जारी है। अप्रैल तक जेवर एयरपोर्ट को मंजूरी मिल जाएगी। इसके बाद यहां भी काम शुरू हो जाएगा। मीरजापुर सोलर प्लांट के लिए सपा सरकार ने सिर्फ जमीन लीज पर दी थी। पैसा केंद्र ने दिया था।

मंदिर का मामला अब कोर्ट पर ही छोड़ देना चाहिए

राम मंदिर के मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय लोकसभा चुनाव के पहले आ सकता है। शर्त यह है कि कांग्रेस बेवजह की दखल न दे। बेहतर हो कि इसके लिए राहुल गांधी को कपिल सिब्बल को समझा दें। मंदिर को लेकर राहुल गांधी की हमदर्दी का कोई अर्थ नहीं है। वर्ष 1991 से 1996 और 2004 से 2014 तक केंद्र में उनकी ही सरकार रही है। सुलह से मंदिर निर्माण की किसी भी पहल का स्वागत है, पर ये बातें 1991 से चल रहीं हैं।

एक भी एनकाउंटर गलत नहीं हुआ

विपक्ष द्वारा एनकाउंटर पर सवाल उठाने के सवाल पर योगी ने कहा कि एक भी एनकाउंटर गलत नहीं हुआ। जिनकी अपराधियों से सहानुभूति थी वही ऐसी बातें कर रहे हैं। उनके समय में जंगलराज था। आज पुलिस के खौफ से अपराधी अपराध छोड़कर सब्जी बेच रहे हैं। 

बोर्ड परीक्षा छोडऩे वालों में 75 फीसद दूसरे प्रदेशों के

मुख्यमंत्री ने कहा कि बोर्ड परीक्षा छोड़ने वालों में 75 फीसद दूसरे प्रदेशों के हैं। पिछली सरकारों ने शिक्षा को कारोबार बना लिया था। लोग सिर्फ परीक्षा देने के लिए ही फार्म भरते थे। कई को तो आने की जरूरत भी नहीं पड़ती थी। मुन्ना भाइयों से ही उनका काम चल जाता था। लैपटाप न देने के सवाल पर योगी ने कहा कि हम औरों की तरह युवाओं को भिखमंगा नहीं आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं। हम छह लाख युवाओं के लिए नौकरी लेकर आ रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के अनुसार शिक्षा मित्रों को नौकरियां भी देंगे।

सपा सरकार ने काम नहीं सिर्फ कारनामे किये

काम मैंने किया श्रेय भाजपा ले रही है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के इस आरोप के बाबत योगी ने कहा कि उन्होंने काम नहीं, कारनामे किये। अगर काम करते तो जनता उनको नकारती क्यों? अब तो वह सदन में सामना करने से भी कतराते हैं। यही वजह है कि अब पीठ पीछे चोरी ट्वीट करके सरकार पर आरोप लगाते हैं। विपक्षी दलों के गठबंधन के बावजूद भाजपा लोकसभा की सभी सीटें जीतेंगी। हार के डर से राहुल, सोनिया जैसे तमाम दिग्गज पलायन कर जाएंगे।

 

By Nawal Mishra