लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश सरकार साहित्य, कला, चिकित्सा, शिक्षा, सामाजिक कार्य तथा खेल के क्षेत्र की 54 विभूतियों को यश भारती पुरस्कार से सम्मानित करेगी। आज सरकार ने यश भारती पुरस्कार 2016 के नामों को घोषणा की।

यश भारती पुरस्कार 27 अक्टूबर को दिन में 11 बजे से लोकभवन में प्रदान किया जाएगा। सभी हस्तियों को सीएम अखिलेश यादव सम्मानित करेंगे।

पढ़ें- विवादों में अखिलेश का 'यश भारती', मुख्य सचिव की पत्नी के नाम पर उठे सवाल

इस बार भी यश भारती से सम्मानित होने वाली हस्तियों को 11 लाख रुपया के साथ ही प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। वर्ष 2016 का यश भारती सैय्यद मो. हस्सना को यूनानी चिकित्सा, योगेश मिश्रा को पत्रकारिता, डॉ. सबीहा अनवर को शिक्षा, प्रो. राकेश कपूर को चिकित्सा, वेंकट चंगावली व फारुख अहमद को समाजसेवा, सुमन यादव को खेल, मो. बशीर बद्र को साहित्य, सुमोना चक्रवर्ती को कला, स्वरुप कुमार बख्शी को साहित्य, निर्देशक सौरभ शुक्ला फिल्म, निर्देशक अनुभव सिन्हा, संतोष आनंद को गीतकार, नसीरुद्दीन शाह को अभिनय, ज्ञानेन्द्र पाण्डेय, भुवनेश्वर कुमार, प्रवीण कुमार व पीयूष चावला को क्रिकेट तथा मो. असलम वारसी को सूफी गायन के लिए यश भारती पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

पढ़ें- 'किस मद से दिए जाते हैं यश भारती पुरस्कार'

इनके साथ ही काशीनाथ यादव को बिरहा गायन, साबरी ब्रदर्स (आफताब-हाशिम) को कव्वाली, उस्ताद गुलफाम को शास्त्रीय संगीत, सोनी चौरसिया को कथक, मणेंद्र कुमार मिश्र को लेखन, राजकृष्ण मिश्र को साहित्य, राजेंद्र सिंह को जल संचयन, पंडित विश्वनाथ को शास्त्रीय संगीत, डॉ. रतीश अग्रवाल को चिकित्सा, कमर रहमन को शिक्षा एवं विज्ञान, मनोज मुंतसिर को गीतकार, अशोक निगम को पत्रकारिता, अर्जुन बाजपेयी को पर्वतारोहण, डॉ. रामरतन बनर्जी को चिकित्सा तथा डॉ.शिवानी मातनहेलिया को शास्त्रीय संगीत के यश भारती से सम्मानित किया जाएगा।

पढ़ें- OMG! लाखों रुपये कमाने वाले इन सितारों को भी चाहिए 50 हजार रुपये की पेंशन!
रवि कपूर को फोटोग्राफी, दीपक अग्रवाल को चिकित्सा, ओमा दपक को साहित्य, यश भारती व दीपराज राणा को फिल्म निर्देशन, सर्वेश अस्थाना को साहित्य, लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चैत को सैन्य सेवा तथा महेश्वर तिवारी को साहित्य, विजय शेखर शर्मा को व्यवसाय, गार्गी यादव को कुश्ती, राम मिलन यादव को कुश्ती, रमाकांत यादव चिकित्सा, आत्मप्रकाश मिश्र दूरदर्शन, गौरदास चौधरी चिकित्सा व वरुण कुमार पैरालंपिक को यश भारती पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

संस्कृत के 47 विद्वानों को मिलेगा सम्मान

संस्कृत भाषा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 47 विद्वानों का सम्मान किया जाएगा। उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान की ओर से दिसंबर में आयोजित कार्यक्रम में इनका सम्मान होगा। इस साल का संस्थान की ओर से दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान विश्वभारती पुरस्कार इलाहाबाद के डॉ. जगन्नाथ पाठक को दिया जाएगा। वहीं महर्षि वाल्मीकि पुरस्कार से उन्नाव के डॉ. रामशंकर अवस्थी, महर्षि व्यास पुरस्कार से लखनऊ के प्रो. आजाद मिश्र और कानपुर के डॉ. शिवबालक द्विवेदी को महर्षि नारद पुरस्कार से नवाजा जायेगा। संस्थान अध्यक्ष डॉ. साधना मिश्रा ने बताया कि संस्थान के विशिष्ठ पुरस्कारों से मुरादाबाद के डॉ. रामानंद शर्मा, इलाहाबाद के डॉ. गिरिजा शंकर शास्त्री, बदायूं के डॉ. वीके शर्मा, फैजाबाद के डॉ. देवी सहाय पांडेय और बरेली की डॉ. प्रमोद बाला को सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ ही संस्थान की ओर से वेद पंडित पुरस्कार के लिए प्रदेश भर से दस विद्वानों को और पुस्तकों के लिए चार विद्वानों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। वहीं विशेष पुरस्कार से छह विद्वानों को तथा विविध पुरस्कार से 18 विभूतियों को धनराशि, अंगवस्त्र और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस