लखनऊ। प्रियंका गांधी ने आज रायबरेली में कहा कि कार्यकर्ता संगठन की रीढ़ होते हैं। कार्यकर्ताओं की मांग पर उन्हें सभी सुविधाएं उपलब्ध करा दी गई हैं। अब जरूरी है कि संगठन की मजबूत की लिए कार्यकर्ता हर समय अपडेट रहें। कहा कि यदि आपकी अपने काम में रुचि नहीं है तो हट जाएं और रुचि के अनुसार काम करें।

जनता के मुद्दों पर करें संघर्ष

उन्होंने कहा कि यह मौका जनता के बीच जाने का है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से समस्याएं पूछीं तो उन्होंने खाद व पानी की समस्या बताई। इस पर प्रियंका ने कहा कि एक समस्या निशाने पर होनी चाहिए। जनता में संदेश जाना चाहिए कि हम उनके साथ हैं। लोगों ने खाद व पानी जैसे मसलों के लिए तहसील स्तर से 20 के बाद धरना प्रदर्शन की बात कही तो उन्होंने कहा कि जो भी करना बेहतर करना।

भुएमऊ गेस्ट हाउस में कांग्रेस सेवादल, छात्र संगठन, महिला संगठन, लीगल सेल आदि के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के बैठक में प्रियंका ने कहा कि संगठन से जुड़ा पदाधिकारी अगर निष्क्रिय है तो उसके स्थान पर फौरन बदलाव किया जाए। जिम्मेदार लोग इसकी सूची रखें और रुचि न लेने वाले शिथिल सदस्यों को हटाकर युवा जोश को आगे लायें। रायबरेली में कांग्रेस से जुड़ा एक-एक कार्यकर्ता और पदाधिकारी आने वाले समय में नए रूप में दिखना चाहिए। ऐसा करने से ही संगठन को हर सेकेंड अपडेट किया जा सकता है।

हार से नहीं हों निराश

प्रियंका ने कांग्रेसियों से कहा कि पार्टी की हार से निराश नहीं हों। इसे जीत के लिए अनुभव के रूप में इस्तेमाल करें। आज के समय कई मुद्दे हैं, लेकिन सारा मसला विचारों को जिंदा रखने का है। हार जीत से इसकी प्रासंगिकता कम नहीं होती है। युवा अपने विचार से आगे आते हैं लेकिन अकसर इनके विचारों को बदलती जमीनी सच्चाइयों के आगे दम तोडऩा पड़ता है। बड़ों के पास अनुभव है। आज की राजनीति की जरूरत मौलिक विचारों को अनुभव प्रयोगशाला में परख कर सही जगह स्थापित करना है। कई विपरीत हवाएं चल रही हैं जो राजनीति और समाज दोनों के लिए ठीक नहीं है।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस