अयोध्या, संवादसूत्र। निर्माणाधीन मकान की शटरिंग अचानक ढह गई। मलबे के नीचे दब कर एक श्रमिक की मौत हो गई, जबकि दो श्रमिकों को भी चोटें आईं हैं। यह निर्माणाधीन भवन पूर्व संभागीय परिवहन अधिकारी चुन्नीलाल का है। दुर्घटना की सूचना पाकर एसपी सिटी विजयपाल सिंह, सीओ सिटी शैलेंद्र सिंह, मुख्य अग्निशमन अधिकारी राजकिशोर राय मौके पर पहुंचे और अपनी निगरानी में रेस्क्यू कराया। मलबे को हटाने के बाद एक श्रमिक का शव बरामद हुआ, जबकि इससे पहले ही अन्य घायल श्रमिकों को उनके साथी बाहर कर निकाल चुके थे।

अचानक ग‍िरी शटर‍िंग : पूर्व परिवहन अधिकारी का मकान लखनऊ-अयोध्या हाईवे पर कोटसराय के पास बन रहा है। भवन निर्माण के लिए बड़ी संख्या में श्रमिक लगाए गए हैं। मंगलवार को मकान की छत निर्माण के लिए लगाई गई शटरिंग अचानक गिर गई। गनीमत रही कि अधिकांश मजदूर बाहर निकल चुके थे। शटरिंग गिरने की तेज आवाज सुनकर आसपास के लोग एवं श्रमिक घटनास्थल पर पहुंच गए। मलबे की चपेट में आकर कई श्रमिकों को चोटें आईं। मलबे के नीचे कई श्रमिकों के दबे होने की आशंका में सहायता के लिए पुलिस को सूचना दी गयी।

रेस्‍क्‍यू में म‍िला मजदूर का शव : रेस्क्यू आरंभ हुआ तो एक श्रमिक का शव मिला, जिसकी पहचान सरियावां रानीबाजार निवासी मोहित सिंह के रूप में हुई, जबकि दो घायल श्रमिकों में इटौरा के रंजीत कुमार और रायपुर के अंकुर शामिल हैं। दुर्घटना के बाद हाईवे पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई। हालांकि यातायात पुलिस ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को संभाल लिया। सीओ सिटी ने बताया कि दुर्घटना में श्रमिक मोहित यादव की मृत्यु हो गई, जबकि शेष दो घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

Edited By: Anurag Gupta