लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस कमिश्नरेट में भी महिलाएं असुरक्षित है। कहीं राह चलते महिलाओं से चेन लूट ली जा रही है तो कहीं छेड़छाड़ की घटनाएं सामने आ रही हैं। ताजा मामला काकोरी क्षेत्र का है, जहां शौच के लिए जा रही युवती से दो युवकों ने छेड़छाड़ की। यही नहीं युवती के विरोध पर आरोपितों ने सरेआम उसकी पिटाई कर दी। रही कसर काकोरी पुलिस ने पूरी कर दी और पीड़िता की शिकायत पर हीलाहवाली करने लगे। 

 
हालांकि, सोशल मीडिया पर मामला वायरल होने के बाद उच्चाधिकारियों ने इसका संज्ञान लिया और एफआइआर के निर्देश दिए। इज्जत और कानूनी दांव पेच की दुहाई देकर महिलाओं को टरकाने की पुलिस की कार्यप्रणाली पुरानी है। यही कारण है कि शोहदों के हौसले बुलंद हैं और राह चलते महिलाओं से अभद्रता हो रही है। 
 
ये है पूरा मामला 
काकोरी निवासी एक मजदूर की बेटी बुधवार शाम को शौच के लिए घर से निकली थी। रास्ते में मौरा गांव निवासी पवन और सूरज ने उसे रोक लिया और अश्लीलता करने लगे। पीड़िता ने इसका विरोध किया तो दोनों ने उसकी पिटाई कर दी। युवती ने मदद की गुहार लगाई तो आसपास मौजूद ग्रामीण वहां पहुंच गए। यह देख दोनों युवक धमकी देकर भाग निकले। युवती ने घर जाकर घटना की जानकारी परिवार जन को दी। यह सुनकर युवती के घरवाले पवन और सूरज के यहां शिकायत करने पहुंचे। आरोपितों की हरकत पर उन्हें डांटने के बजाय उनके घरवालों ने पीड़िता के परिवारजन से ही अभद्रता शुरू कर दी। यही नहीं आरोपितों व उनके घरवालों ने पीड़ित परिवार पर हमला बोल दिया। परेशान होकर पीड़ित परिवारजन काकोरी थाने पहुंचे और घटना की शिकायत की। 
 
आरोप है कि थाने में मौजूद एक दारोगा ने इज्जत की दुहाई देकर उन्हें लौटा दिया। वहीं, गुरुवार को सोशल मीडिया पर यह प्रकरण वायरल हो गया। इसके बाद मोहनलालगंज सांसद कौशल किशोर ने काकोरी पुलिस व अन्य अधिकारियों को इस संबंध में कार्यवाही के लिए कहा। मामले की गंभीरता को देखते हुए उच्चाधिकारियों ने काकोरी पुलिस से आरोपितों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने के निर्देश दिए। एसीपी काकोरी सैय्यद मोहम्मद कासिम आब्दी का कहना है कि तहरीर के आधार पर आरोपितो के खिलाफ रिपोर्ट लिखी गई है। साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस